Thugs of Hindostan Katrina Kaif Look Motion Poster Released

दि राइजिंग न्यूज़

मुंबई।

 

तीन साल पहले नाबालिग से रेप और मर्डर के तीन दोषियों को अहमदनगर की एक अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है। घटना लोनी मावला इलाके की है। सरकारी वकील उज्जवल निकम ने तीनों दोषियों को फांसी देने की मांग की थी। कोर्ट ने इस मामले को “रेयरेस्ट ऑफ रेयर” कैटेगरी का मानते हुए तीनों को फांसी की सजा सुनाई।

कौन हैं आरोपी?

 

जिन तीन दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई है उनके नाम संतोष लोनकर (35), मंगेश लोनकर (30) और दत्तात्रेय शिंदे(27) हैं।

किडनैपिंग के बाद रेप और मर्डर

 

22 अगस्त 2014 को अहमदनगर जिले के लोनी मावला इलाके में तीन लोगों ने एक नाबालिग को किडनैप किया। वो 9th की स्टूडेंट थी और घटना के वक्त अपने दादा से मिलने जा रही थी। आरोपियों ने उसे किडनैप करने के बाद पहले मारपीट की। इसके बाद उसके साथ गैंगरेप किया गया और बाद में हत्या कर दी गई।

 

बच्ची की बॉडी एक सड़क के किनारे मिली थी। उस पर चाकू से काटने के कई निशान पाए गए थे। जांच के बाद पुलिस ने अगले ही दिन पहले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था। उससे पूछताछ के बाद दो और आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने 18 नवंबर 2014 को मामले की चार्जशीट दायर की थी।

अन्ना ने की थी सख्त कार्रवाई की मांग

 

अहमदनगर की इस घटना के बाद महाराष्ट्र विधानसभा में काफी हंगामा हुआ था। इसके अलावा लोग सड़कों पर उतर आए थे। आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की गई थी। पुलिस ने घटनास्थल से काफी सबूत जुटाए थे। लिहाजा, आरोपियों के खिलाफ केस पुख्ता बना था।

 

सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने साफ कर दिया था कि आरोपियों को सख्त सजा दिलाई जाएगी। अन्ना हजारे ने भी सरकार से मांग की थी कि इस तरह की वारदात को अंजाम देने वाले लोगों के खिलाफ किसी तरह का रहम नहीं दिखाया जाना चाहिए।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement