Home National News Google Honoured Anasuya Sarabhai With A Doodle

गुरुग्राम: बिहार के मोतिहारी का खूंखार मोस्टवांटेड बदमाश गिरफ्तार

आतंक का रास्ता छोड़ने वालों पर नहीं होगी कार्रवाई: DGP वैद

एक दिसंबर को रिलीज नहीं होगी फिल्म पद्मावती, निर्माताओं ने बढ़ाई तारीख

पश्चिम बंगाल: सिलीगुड़ी में 2 बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला, गंभीर रूप से घायल

उम्मीद है कि कश्मीर जल्द ही हिंसा मुक्त हो जाएगा: DGP वैद

पूरा जीवन मजदूरों के हक के लिए लड़ने वाली मोटाबेन को नमन

National | 11-Nov-2017 13:40:17 | Posted by - Admin
   
 Google Honoured Anasuya Sarabhai With A Doodle

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

सर्च इंजन गूगल ने शनिवार 11 नवंबर को अपना “डूडल सामाजिक कार्यकर्ता” अनसुइया साराभाई को समर्पित किया। दरअसल, गूगल अनसुइया साराभाई की 132वीं वर्षगांठ मना रहा है। “मोटाबेन” के नाम से पॉपुलर अनसुइया ने बुनकरों और टेक्सटाइल उद्योग के मजदूरों की हक की लड़ाई के लिए साल 1920 में अहमदाबाद टेक्सटाइल लेबर एसोसिएशन बनाया था। वैसे आपको बता दें कि ये भारत के टेक्सटाइल मजदूरों का सबसे पुराना यूनियन भी है। 

 

11 नवंबर 1885 में जन्मी साराभाई ने नौ साल की उम्र में ही अपने माता पिता को खो दिया था। उनकी शादी 13 साल की उम्र में कर दी गई थी लेकिन ये शादी चली ज्यादा दिनों तक चल नहीं पाई और वो वापस अपने परिवार में आकर रहने लगीं।  

1912 में अनसुइया पढ़ाई के लिए इंगलैंड चली गईं। इसी बीच वो मार्कसिस्ट जॉर्ज बर्नार्ड शॉ और सिडनी वेब के संपर्क में आईं। आगे पढ़ाई करने के लिए उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स में दाखिला लिया। उन्होंने भारत आकर हाशिये पर मौजूद लोगों खासकर उनलोगों के लिए काम करना शुरू किया जिन्हें समाज में कोई अधिकार प्राप्त नहीं था।

 

उन्होंने सभी जाति के गरीबों की शिक्षा के लिए स्कूल खोले और महिलाओं के लिए बाथरुम बनवाए।  एक दिन उन्होंने कुछ मजदूरों को बहुत परेशान सा जाते हुए देखा जिन्हें वो नहीं जानती थीं,  उन मजदूरों ने अनसुइया को बताया कि वो पिछले 36 घंटे से काम कर रहे थे, बिना कोई ब्रेक लिए।

तब अनसुइया को लगा कि उन्हें इन मजदूरों के लिए काम करने की जरूरत है और फिर उन्होंने मजदूरों के लिए यूनियन का गठन किया जिसे मजूर महाजन संघ के नाम से जाना जाता है और यह मजदूरों का सबसे पुराना यूनियन है।  यही नहीं उन्होंने 1918 में मजदूरों की सैलरी बढ़वाने के लिए आंदोलन किया था।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555



संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...




TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news