Sapna Chaudhary Joins Congress

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

पीएनबी को हजारों करोड़ों का चूना लगाकर विदेश भागने वाले भगोड़े मेहुल चौकसी को नागरिकता देने पर एंटीगुआ सरकार ने सफाई दी है। एंटीगुआ सरकार ने कहा कि भारत सरकार ने भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को क्लीन चिट दी थी उसके बाद ही उसे नागरिकता दी गई है। एंटीगुआ ने यह भी कहा है कि भारत सरकार से चोकसी के खिलाफ कोई सूचना नहीं थी। यहां तक की सेबी ने भी चोकसी के नाम पर मंजूरी दी थी। चोकसी के बैकग्राउंड की सख्ती से जांच की गई, लेकिन उसके खिलाफ न तो भारत सरकार ने और न ही सेबी ने कुछ सबूत पेश किए। गौरतलब है कि एंटीगुआ प्राधिकरण ने पुष्टि की है कि भारत में भगोड़े घोषित हीरा व्यपारी मेहुल चोकसी उनके देश में है। मेहुल चोकसी और उनके भांजे नीरव मोदी को कथित तौर पर भारत में कई अरब डालर के घोटाले का मास्टरमाइंड बता गया है।

 

एंटीगुआ सरकार ने यह भी कहा है कि अगर भारत सरकार मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण के लिये कहती है तो हम उनके अनुरोध का सम्मान करते हुए उसे हर मदद प्रदान करेंगे। बता दें कि कांग्रेस ने पंजाब नेशनल बैंक सहित देश को कई अरब डॉलर का चूना लगा कर देश से फरार हुए हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी के एंटीगुआ की नागरिकता लेने को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और दावा किया इससे सरकार की गंभीरता पर संदेह पैदा होता है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement