Kajol Says SRK is Giving Me The Tips of Acting

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

सिटी ट्रांसपोर्ट कंपनी का दुबग्गा डिपो। चार दर्जन से ज्यादा बसें खड़ी और उनके कलपुर्जे जमीन पर ही बिखरें। यह नजारा पिछले चार दिन का है। दरअसल, गत सप्ताह हुसैनगंज में सिटी बस का एक्सीडेंट व तीन लोगों की मौत के बाद आनन फानन बसों को रोक दिया। सवाल यह है कि अगर एक्सीडेंट न होता तो क्या बसें चलती रहतीं, लेकिन हादसे के पांच दिन के अंदर ही कई घटनाएं ऐसी हुईं, जिन्होंने सिटी ट्रांसपोर्ट कंपनी में चल रहे घोटालों का परदाफाश कर दिया है। मंगलवार को 1090 चौराहे के नजदीक चारबाग की ओर से आ रही सिटी संख्या यूपी 32 डीएन 0086 ने एक कार को टक्कर मार दीं। मामला पुलिस तक पहुंचा। घटना की वजह ब्रेक फेल होना बताया गया।

खास बात यह है कि हुसैनगंज में भी हादसे की वजह ब्रेक फेल होना था लेकिन खास बात यह है कि घटना के चार दिन बाद हुए मुआयने में ब्रेक व स्टेरिंग का एयर पंप प्रेशर दुरुस्त पाया गया। यानी बस एकदम ठीक थी लेकिन सात साल से अधिक समय से बस चलाने वाले चालक की योग्यता पर सवाल जरूर खडा कर दिया गया है। सिटी ट्रांसपोर्ट कंपनी के प्रबंध निदेशक आरिफ सकलैन के मुताबिक बस में ब्रेक एकदम दुरुस्त थे और स्टेयरिंग प्रेशर भी दुरुस्त था। हालांकि प्रबंध निदेशक चालक के रिकार्ड को भी बेदाग बताते हैं और हादसे को अनहोनी करार देकर पल्ला झाड़ते दिख रहे हैं। सवाल यह है कि जिन लोगों की जान गईं, उनका क्या दोष था। हालांकि सिटी ट्रांसपोर्ट कंपनी में कार्यरत कर्मचारी चार दिन में बस से छेड़छाड़ की आशंका से इंकार नहीं कर रहे हैं। 

स्पेयर में आपूर्ति में ही खेल

शहरी परिवहन निदेशालय के संयुक्त निदेशक स्पेयर की खरीद के लिए करोड़ों रुपये दिए जाने की बात कर रहे हैं लेकिन कर्मचारियों की माने तो दुबग्गा और गोमतीनगर दोनों ही डिपो में स्पेयर है ही नहीं। खास बात यह है कि सिटी ट्रांसपोर्ट कंपनी के निदेशक निदेशालय से मिले धन से बकायेदारी की चुकाने का दम भरते हैं फिर तो यह सवाल और अहम हो जाता है कि आखिर स्पेयर मिल क्यों नहीं रहे हैं। इस सवाल का जवाब देने से अधिकारी बच रहे हैं। यही नहीं, जांच के नाम पर भी भी हमेशा की तरह मामले को ठिकाने लगाने का ही प्रयास किया जा रहा है।  

"बस के टेक्निकल मुआयने में कहीं कोई खराबी नहीं मिली है। हालांकि चालक का भी कोई खराब रिकार्ड नहीं है और यह केवल अनहोनी ही थी कि बस का एक्सीडेंट हो गया। गोमतीनगर 1090 चौराहे पर मंगलवार हुई ब्रेक फेल होने की घटना की जांच कराई जाएगी। हालांकि कार चालक व सिटी बस प्रबंधन के बीच समझौता करा दिया गया है।"

आरिफ सकलैन

प्रबंध निदेशक

सिटी ट्रांसपोर्ट कंपनी

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement