Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह को अचानक सीने में दर्द होने की शिकायत हुई। ऐसे में वह इलाज के लिए लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान पहुंचे। जांच में हृदय की धमनी में ब्लॉकेज पाया गया। इसके बाद रात में ही डॉक्टर्स ने एंजियोप्लास्टी की। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री से मिलने व उनका हालचाल जानने के लिए खुद मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ अस्‍पताल पहुंचे।   

हृदय की धमनी में ब्लॉकेज

मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह मंगलवार शाम पांच बजे लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान पहुंचे। यहां पहले उन्हें कार्डियक आइसीयू में भर्ती किया गया। कार्डियोलॉजिस्ट ने उनकी ईसीजी व बेड साइड ईको किया। रिपोर्ट गड़बड़ आने पर तुंरत कैथ लैब शिफ्ट किया गया।

 

 

निदेशक डॉ. दीपक मालवीय के मुताबिक, मंत्री के हृदय की धमनी में ब्लॉकेज मिले। ऐसे में एंजियोप्लास्टी करने का फैसला किया गया। शाम सात बजे स्टेंट डालकर बंद धमनी को खोल दिया गया।

क्या है एंजियोप्लास्टी?

बाईपास सर्जरी की तरह एंजियोप्लास्टी भी एक प्रकार की सामान्य सर्जरी है। इसमें भी धमनियों के ब्लॉकेज को ठीक किया जाता है। यह बाईपास सर्जरी के मुकाबले ज्यादा सुरक्षित है। दरअसल, एंजियोप्लास्टी सर्जरी में मरीज जल्द ऑपरेशन थियेटर से बाहर आ जाता है और सामान्य रहता है। इसमें उसे बेड रेस्ट की जरूरत कम होती है।

हालांकि, एनेस्थेसिया के कारण कुछ समय के लिए नीम बेहोशी बनी रहती है। इसका प्रभाव खत्म होते ही मरीज चलने फिरने लगता है। यह प्रक्रिया कार्डियक और डायबिटीज के मरीजों के लिए वरदान मानी जाती है। इसमें अपेक्षाकृत सहूलियत अधिक है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement