Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्यूज़

सभी फोटो- कुलदीप सिंह 

लखनऊ।

 

भाजपा का जश्न एक बार फिर फीका पड़ गया है। कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस का जेडीएस को समर्थन देना भारतीय जनता पार्टी को महंगा पड़ सकता है। शायद यही वजह है कि जबसे राहुल गांधी ने समर्थन का ऐलान किया है तबसे भाजपा के कुनबे में सन्नाटा पसर गया है। राजधानी में भाजपा कार्यालय में होने वाली मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रेस कांफ्रेंस भी टल गई है। आतिशबाजी के लिए मंगवाए गए पटाखे भी वापस भेजे जा चुके हैं। कार्यालय पहुंचे सभी मंत्री भी वापस लौट चुके हैं।

क्या कहता है समीकरण 

कर्नाटक विधानसभा के नतीजों में किसी को बहुमत मिलती नहीं दिख रही है। इस बीच, कांग्रेस ने भाजपा को रोकने के लिए जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनने का ऑफर दिया है। अभी तक के रुझानों में भाजपा 104 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं, कांग्रेस 76 और जेडीस 40 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

“हम जेडीएस के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे”

गुलाम नबी आजाद ने बेंगलुरु में मंगलवार को कहा हमने देवगौड़ा और कुमारस्वामी से टेलीफोन पर बात की है। उन्होंने हमारे प्रस्ताव को स्वीकार किया है। हम एक साथ मिलकर सरकार बनाएंगे। इससे पहले कांग्रेस नेता जी परमेश्वर ने कहा है- "हम जनादेश को स्वीकार करते हैं। सरकार बनाने के लिए हमारे पास आंकड़े नहीं है। ऐसे में कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए जेडीएस को समर्थन देने की पेशकश की है।"

हर वक्त आंकड़े बदलते रहे

मतगणना के शुरुआती आधे घंटे में कांग्रेस ने बढ़त बनाई। इसके बाद एक घंटे तक उसकी भाजपा से कड़ी टक्कर देखने को मिली। लेकिन साढ़े नौ बजे के बाद भाजपा आगे निकलकर बहुमत के करीब तक पहुंच गई। राज्य में भाजपा से ज्यादा वोट शेयर हासिल करने के बाद भी कांग्रेस उसे शिकस्त नहीं दे पाई। बाद में एक वक्त ऐसा आया जब भाजपा को रुझान में 122 सीट तक मिलीं। इसके बाद पार्टी की सीटें कम होती चली गईं और बहुमत से दूर हो गई।

सख्त हिदायत के बाद भी जश्न की होड़

गौरतलब है कि, भाजपा कार्यालय में योगी आदित्यनाथ की 3:30 बजे प्रेस कांफ्रेंस होनी थी। इससे पहले ही भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष यदुवंशी ढोल-नगाड़ों के साथ कार्यालय के बहार जीत का जश्न मनानें लग गए। हालांकि भाजपा की ओर से सख्त हिदायत दी गई थी कि बिना नतीजे घोषित हुए किसी भी तरह का जश्न नहीं मनाया जायेगा, बावजूद इसके ये सब हुआ।     

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement