Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

ठाकुरगंज कोतवाली के पुलिसकर्मियों ने 24 वर्षीय लोडर चालक अजय निषाद को इतना डराया धमकाया और परेशान किया कि उसने अपने ही घर में फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। घरवालों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने अजय से 20 हजार रुपये भी मांगे, रुपये ना देने पर उसे हत्‍या के आरोप में जेल भेजने की धमक देते रहे।

मामले पर एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने कहा कि जांच की जा रही है पुलिसकर्मियों के दोषी पाए जाने पर कठोर कार्रवाई होगी।

 

 

थाना क्षेत्र के गऊघाट में रहने वाला अजय निषाद की मौत के बाद उनके परिजनों ने बताया कि सोमवार की रात अजय अपना लोडर लेकर घर लौट रहा था। तभी रास्‍ते में ही कुछ पुलिसकर्मियों ने उसे रोक लिया और उसे जेल भेजने की बात करने लगे। जैसे-तैसे वह घर पहुंचा तो पुलिसकर्मी भी पीछे-पीछे आ गए और उसपर हत्‍या करने का आरोप लगाने लगे। इतना ही नहीं पुलिसकर्मिेयों ने अजय को गिरफ्तारी से बचाने के लिए 20 हजार रुपये भी मांगने लगे, रुपये ना देने पर उसे जेल भेजने की धमकी देते रहे।

 

 

परिजनों ने बताया कि बीते दिनों पुलिस अवैध वसूली कर रही थी जिससे बचने के चक्‍कर में अजय लोडर लेकर भाग तो वह दीवार से टकरा गया और उसका आगे का बंफर भी टूट गया। इसके बाद से ही पुलिस ने अपने मुखबिर सलीम को उसके पीछे लगाया। सलीम ने जब अजय की जानकारी दी तो खिसियाए पुलिसवालों ने उसके ऊपर ही हत्‍या का आरोप लगा दिया।

जेल जाने के डर से अजय ने दोपहर बाद कमरे का दरवाजा बंद कर फांसी लगा ली। घटना के बाद आक्रोशित परिवारीजनों ने जमकर हंगमा किया। हालात को देखते हुए मौके पर कई थानों की फोर्स भी बुलाई गई। हालांकि क्षेत्र में अभी भी गंभीर तनाव बना हुआ है।

 

 

“ठाकुरगंज के गऊघाट में रहने वाले अजय की मौत की जानकारी मिली है। यह सही है कि कुछ पुलिसकर्मी उसके घर पूछताछ के लिए आए थे। पूरे घटना क्रम में पुलिस कर्मिेयों की भूमिका जांची जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की होगी।”

विकास चंद्र त्रिपाठी

एएसपी पश्चिम

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement