Arjun Kapoor and Malaika Arora Affair Updates

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

प्रसपा (प्रगतिशील समाजवादी पार्टी) प्रमुख शिवपाल यादव ने रविवार को बड़ा बयान दिया है। उनका कहा कि समाजवादी पार्टी (एसपी) में उनकी पार्टी का विलय नहीं होगा और न ही समाजवादी पार्टी में वे लौटेंगे। न्यूज एजेंसी एएनआइ से बातचीत में शिवपाल ने कहा कि वे सपा के साथ गठबंधन को तैयार हैं लेकिन इसके लिए अखिलेश को पहले उनसे बात करनी होगी।

पीएसपी प्रमुख ने कहा, चुनाव बाद अगर वे (अखिलेश यादव) हमसे बात करें, हमें आदर दें तो मैं इसपर विचार करूंगा लेकिन गठबंधन सहयोगी ही बनूंगा। मेरी पार्टी बने रहेगी और सपा में शामिल नहीं होगी। शिवपाल यादव ने उन आरोपों को खारिज कर दिया जिसमें उन्हें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की बी-टीम बताया जा रहा है।

मैं बीजेपी को हराने के लिए तैयार था

शिवपाल ने कहा, मैंने हमेशा सपा के लिए और बीजेपी के खिलाफ काम किया है। अखिलेश ने गठबंधन का ऐलान किया तो हमने उनसे पीएसपी को सहयोगी बनाने के लिए कहा। मेरी मांग बड़ी नहीं थी। उसके बाद मैंने कांग्रेस के साथ कोशिश की। कांग्रेस नेताओं से बातचीत भी हुई। मैंने उनसे फिरोजाबाद और इटावा की सीट मांगी। मैंने उनसे वैसी सीटें मांगीं जहां उनके उम्मीदवार नहीं थे। 15-20 सीटों की मांग थी। मैं बीजेपी को हराने के लिए तैयार था।

शिवपाल यादव से पूछा गया कि उन्होंने मुलायम सिंह यादव और डिंपल यादव के खिलाफ अपने प्रत्याशी क्यों नहीं उतारे? इसके जवाब में शिवपाल ने कहा, हमने नेताजी और डिंपल के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारे हैं। नेताजी ने पार्टी बनाई थी। मैं शुरू से उनकी इज्जत करता हूं। मेरे वरिष्ठ नेताओं ने मुझे सुझाव दिया कि ये घर का मामला है इसलिए खास तरह से निपटना चाहिए। मुलायम सिंह यादव मैनपुरी से और सपा नेता डिंपल यादव अपने मौजूदा क्षेत्र कन्नौज से चुनाव लड़ रही हैं। 

शिवपाल ने सीएम योगी को बताया ईमानदार

सपा से अलग होकर अपनी पार्टी बनाने वाले शिवपाल सिंह ने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार बढ़ गया है। अफसरशाही में मुख्यमंत्री योगी की पकड़ नहीं है। इस कारण यह हो रहा है। हालांकि, उन्होंने मुख्यमंत्री योगी को ईमानदार बताया। शिवपाल ने कहा, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ईमानदार हैं हम इस बात को मान रहे हैं लेकिन उनकी नौकरशाही में लगाम कम होने से लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है और भ्रष्टाचार बढ़ रहा है।

गौरतलब है कि शिवपाल सिंह ने सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नाम से अपनी नई पार्टी बनाई है। उनकी पार्टी के प्रत्याशी इस बार चुनाव मैदान में हैं। वे खुद फिरोजाबाद से अपने भतीजे अक्षय यादव के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement