Ayushman Khurrana Wants To Work in Kishore Kumar Biopic

दि राइजिंग न्‍यूज

फोटो- कुलदीप सिंह

लखनऊ।

 

शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द होने के आज एक साल पूरे हो गए हैं। इसलिए शिक्षामित्र आज इसे “काला दिवस” के रूप में मना रहे हैं और विरोध में सैकड़ों शिक्षामित्रों ने मुंडन कराया है। इनका प्रदर्शन ईको गार्डन पार्क में चल रहा है। वहीं, दूसरी ओर शिक्षामित्रों ने शहीद स्‍मारक से शव यात्रा निकाली, जोकि परिवर्तन चौक तक ले जायी गई।

 

 

 

 

क्या है मामला?

25 जुलाई, 2017 को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द किया गया था। तभी से शिक्षामित्र अपनी मांगों को लेकर लगातार आंदोलन कर रहे हैं। शिक्षामित्रों की मांग थी कि उनको पैराटीचर बनाया जाए। इसके अलावा जो शिक्षामित्र टीईटी उत्तीर्ण हैं, उन्हें बिना लिखित परीक्षा के नियुक्ति दी जाए।

 

 

 

 

 

मृतक के परिजनों के लिए मुआवजे की मांग

बता दें कि समायोजन रद्द होने के बाद से कई शिक्षामित्रों की मौत हो चुकी है। इसी कड़ी में उनकी मांग हैं कि उन सभी को मुआवजा देने के साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए। इसके अलावा असमायोजित शिक्षामित्रों के लिए भी सरकार कोई समाधान निकाले। साथ ही पुरुष शिक्षामित्र जनेऊ उतारकर कर प्रदर्शन कर रहे हैं।

 

 

 

आपको बता दें कि राजधानी के एनेक्सी भवन में 13 जून को सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने शिक्षामित्रों के छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की थी। उनकी इस बैठक के बाद उम्मीद की जा रही है कि शिक्षामित्रों की समस्या का जल्द ही समाधान होगा।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement