Shahrukh Khan on The Failure of Zero

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

मंगलवार को अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय जाने से रोक दिया गया। जिसके बाद सपा के कार्यकर्ता भड़क गए। उन्होंने प्रदेश भर में कई जगह धरना प्रदर्शन भी किया है। वहीं, इस मामले पर विधान परिषद में भी जमकर हंगामा हो गया। सपा सदस्यों ने वेल में आकर हंगामा करते हुए प्रदेश की योगी सरकार पर तानाशाही के आरोप लगाए।

उधर, अखिलेश ने ट्वीट कर कहा कि “एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई-अड्डे पर रोका जा रहा है।” एक अन्य ट्वीट में उन्होंने आरोप लगाया कि बिना किसी लिखित आदेश के मुझे एयरपोर्ट पर रोका गया। पूछने पर भी स्थिति साफ करने में अधिकारी विफल रहे। छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकना का एक मात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है।

सीएम योगी ने दी सफाई

इस मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अखिलेश को अराजकता से बाज आना चाहिए। उन्हें प्रशासन के अनुरोध पर रोका गया है। अगर वह वहां जाते तो हिंसक झड़प हो सकती थी। इसलिए इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अनुरोध पर प्रशासन ने ये फैसला लिया है।

यूपी में आपातकाल

विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद अहमद हसन ने कहा कि यूपी में आपातकाल लागू हो गया है, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ यूनियन के उद्घाटन कार्यक्रम में जाने से रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार प्रजातंत्र की हत्या कर रही है, सरकार गुंडे माफियाओं को सपोर्ट करती है, आम आदमी और शरीफ लोगों को परेशान कर रही है।

उन्होंने कहा कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र संघ अध्यक्ष समाजवादी छात्र सभा का प्रत्याशी जीता है, इसलिए प्रदेश सरकार उद्घाटन कार्यक्रम में अखिलेश यादव जी को शामिल नहीं होने देना चाहती है। यह तानाशाही है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement