Home Lucknow News Road Safety Week And Without Auto Driver Is Without Uniform

मीट कारोबारी मोईन कुरैशी की न्यायिक हिरासत 6 अक्टूबर तक बढ़ाई गई

वाराणसीः PM मोदी ने कई विकास परियोजनाओं को लांच किया, CM योगी भी रहे मौजूद

पूर्व CM अखिलेश यादव के सुरक्षा कर्मियों ने जाम में फंसने पर संभाली लखनऊ की ट्रैफिक व्यवस्था

प. बंगाल: पुलिस ने बरामद किए अमोनियम नाइट्रेट के 51 पैकेट

तमिलनाडु: फ्लाईओवर से गिरी सरकारी गाड़ी, छह कर्मचारियों की मौत

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

कमिश्नर साहब, ये कैसी जागरुकता

Lucknow | 9-Jan-2017 07:20:41 PM
     
  
  rising news official whatsapp number

  • सड़क सुरक्षा सप्ताह की रैली में बिना वर्दी के आटो चालक
  • दूसरों को सीट बेल्ट की नसीहतखुद तिरस्कार

road Safety Week and without auto driver is without uniform


दि राइजिंग न्यूज

09 जनवरी, लखनऊ।

परिवहन विभाग का सड़क सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन कार्यक्रम और वाहन चालकों को जागरूक करने के लिए पैम्फलेट बांटता महज सातआठ साल का बच्चा। जबकि कार्यक्रम का उद्घाटन करने के लिए खुद मंडलायुक्त भुवनेश कुमार खुद मौजूद थे। यही नहीं, मंडलायुक्त ने वाहन चालकों को जागरूक के प्रचार के लिए जो आटो रिक्शा रैली रवाना की, उसमें भी कई लोग बिना वर्दी के ही थे। अब जब विभाग ही जागरुकता के लिए सारे नियमों का अनुपालन जरूरी नहीं मानता तो फिर वाहन चालकों से उम्मीद कैसी।


परिवहन विभाग का सड़क सुरक्षा सप्ताह सोमवार को शुरू हुआ। गोमतीनगर स्थित 1090 चौराहे पर ही उसका उद्घाटन हुआ लेकिन चौराहे से गुजरने वाले बिना नंबर के बैट्री रिक्शा और ज्यादा सवारी बैठा कर निकल रहे आटो चालक विभाग को दिखे तक नहीं। यही नहीं, हादसों को रोकने के लिए तमाम उपाय अधिकारियों ने बता डाले। ब्लैक स्पाट को ठीक कराने की बात एक बार फिर दोहराई गई लेकिन अब इन स्पाट को ठीक क्यों नहीं किया गया, इस पर कोई कुछ नहीं बोला।


मगर दर्दनाक हादसे का जिक्र तक नहीं

हादसों में होने वाली जनहानि और हादसे रोकने के लिए परिवहन विभाग कितना संजीदा है कि इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जिस स्थान पर सड़क सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन हो रहा था, वहां से बामुश्किल 100 मीटर की दूरी पर (बहुखंडी आवास के नजदीक) गत शनिवार देर रात एक बेकाबू कार की चपेट में आने से पांच लोगों की मौत हो गई थी।

मगर सड़क सुरक्षा की दलील दे रहे अधिकारियों ने एक बार भी उस दर्दनाक हादसे का जिक्र तक नहीं किया। हां इतना जरूर रहा कि राजधानी की ट्रैफिक कमान संभालने वाले पुलिस अधीक्षक ने खुद को दर्शनशास्त्र का विद्यार्थी बताकर रोड इंजीनियरिंग और उससे होने वाले हादसों के बारे में ज्यादा जानकारी होने की दलील दे डाली।

 



जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

संबंधित खबरें

HTML Comment Box is loading comments...

 


Content is loading...



What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll



Photo Gallery
जय माता दी........नवरात्र के लिए मॉ दुर्गा की प्रतिमा को भव्‍य रूप देता कलाकार। फोटो - कुलदीप सिंह

Flicker News


Most read news

 



Most read news


Most read news


खबर आपके शहर की