Mahi Gill Regrets Working in Salman Khan Film

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के दामों में बढोतरी को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने मंगलवार को कलेक्‍ट्रेट का घेराव करते हुए जमकर नारेबाजी की। भारी शोर-शराबे के बीच एसीएम तृतीय आनंद सिंह को यूनियन वालों ने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नाम का ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के जरिए किसानों के हित में बढ़ी हुई दरों को वापस लेने की अपील की गई है।

दोपहर डेढ़ बजे के आसपास कलेक्‍ट्रेट परिसर में किसानों का जमावड़ा लगने लगा। ग्रामीण क्षेत्रों में 50 से 150 प्रतिशत की बढ़ोतरी के विरोध में नारेबाजी शुरू हो गई। जिलाध्‍यक्ष सरदार गुरमीत सिंह ने बताया कि प्रदेश भर में एक साथ प्रदर्शन किया जा रहा है। हम लोग बिजली की दरों को वापस लेने की मांग करते हैं और वृद्ध‍ि करने से पहले उपभोक्‍ताओं से वार्ता हो। एनजीटी के आदेश से पुराने ट्रैक्‍टरों को मुक्‍त किया जाए। भाजपा के घोषणा पत्र के अनुसार किसानों की फसल लागत मूल्‍य में 50 प्रतिशत जोड़कर न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य देने की घोषणा हो। मुख्‍य फसलों,फल, सब्‍जी, और दूध को भी न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य के अंतर्गत लाया जाए। किसानों को आवारा पशुओं से निजात दिलाई जाए साथ ही अन्‍नाप्रथा पर तुरंत रोक लगे। आलू, गन्‍ना और धान के किसान को बोनस मिले और आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज सभी मुकदमें वापस हो।

प्रदूषण से बचने के लिए सभी तरह के वाहनों की समय सीमा केवल 15 वर्ष ही रखी जाए। इस दौरान प्रदेश प्रवक्‍ता अवधेश वर्मा, उपाध्‍यक्ष इमरान सिंह, अनार सिंह, सुरेंद्र, फहीम सिद्दीकी, अतुल सिंह, शिवराज सिंह, कलाम सि‍द्दीकी और महिला नगर अध्‍यक्ष माना सिंह सहित सैकड़ों की संख्‍या में किसान मौजूद रहे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll