Pregnant Actress Neha Dhupia Shares Her Opinion on Pregnancy

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के प्रधान सचिव शशि प्रकाश गोयल पर घूस लेने का आरोप लगाने वाले अभिषेक गुप्ता को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। इस मामले में सीएम योगी ने मुख्य सचिव राजीव कुमार को अभिषेक गुप्ता के हरदोई स्थित पेट्रोल पंप की स्थापना संबंधी मामले की तथ्यात्मक जांच कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं।

उधर, राज्यपाल रामनाईक ने भी सीएम योगी को पत्र भेजकर कहा है कि अभिषेक गुप्ता द्वारा पेट्रोल पंप खोले जाने में जो भी रुकावटें आ रही हैं, उनका जल्द निस्तारण किया जाए।

अभिषेक के परिजन पहुंचे सीएम आवास

अभिषेक गुप्ता को हिरासत में लिए जाने के बाद इंदिरानगर निवासी उसकी बहन व नाना सीएम आवास पहुंचे। मीडिया से बातचीत में उन्‍होंने बताया कि पुलिस का कोई भी अधिकारी अभिषेक की लोकेशन के बारे में नहीं बता रहा है कि उसे कहां रखा गया है या ले जाया गया है।

 

 

हजरतगंज थाने में दर्ज हुआ धोखधड़ी का केस

आपको बता दें कि लखनऊ के रहने वाले अभिषेक गुप्ता ने प्रमुख सचिव एसपी गोयल पर 25 लाख की रिश्वत मांगने का आरोप लगाया था। जिसके बाद गुरुवार की रात को हजरतगंज थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया गया था। मुख्यमंत्री के विशेष सचिव सुभ्रांत शुक्ला ने 28 मई को भाजपा के प्रदेश मुख्यालय को सूचित किया था कि इंदिरा नगर निवासी अभिषेक गुप्ता भाजपा के प्रदेश महामंत्री संगठन और अन्य पदाधिकारियों के नाम लेकर अनुचित कार्य कराने का दबाव बना रहा है।

मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग

भाजपा के प्रदेश कार्यालय प्रभारी भारत दीक्षित ने इसे पार्टी की छवि धूमिल करने वाली कार्रवाई बताया। उन्होंने एसएसपी को पत्र लिखकर कहा है कि अभिषेक गुप्ता न तो भाजपा कार्यकर्ता है ना ही कार्यालय में कार्यरत है। भारत दीक्षित ने पार्टी पदाधिकारियों के नाम का दुरुपयोग करने वाले गुप्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की थी।

 

पेट्रोल पंप के लिए मांगी थी अतिरिक्त भूमि

अभिषेक गुप्ता ने हरदोई जिले की संडीला तहसील केरैसो गांव में पेट्रोल पंप की स्थापना के लिए मुख्य मार्ग की चौड़ाई कम होने के कारण आवश्यक भूमि उपलब्ध कराने की मांग की थी। उनका आवेदन नियमानुसार न होने के कारण खारिज कर दिया गया था।

अभिषेक ने राज्यपाल से शिकायत की थी कि सीएम ऑफिस के एक अधिकारी ने उनसे 25 लाख रुपये की मांग की थी। रिश्वत न देने पर उनके प्रत्यावेदन पर निर्णय नहीं हो पाया है। राज्यपाल राम नाईक ने इस मामले में समुचित कार्यवाही के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था।

क्‍या कहा पुलिस अधिकारी ने?

प्रकरण के संबंध में लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार ने कहा कि भाजपा के प्रदेश कार्यालय प्रभारी भारत दीक्षित की तहरीर पर अभिषेक गुप्ता के खिलाफ आइपीसी की धारा 419, 420, 500 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। इसी संबंध में अभिषेक गुप्ता को पूछताछ और बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया है। पूछताछ जारी है।

 

 

राज्‍यपाल ने भेजा था पत्र

गौरतलब है कि राज्यपाल राम नाईक ने सीएम योगी को 30 अप्रैल को ये पत्र भेजा था। इसमें राज्यपाल की तरफ से कहा गया है कि लखनऊ के इंदिरानगर में रहने वाले अभिषेक गुप्ता ने 18 अप्रैल को ईमेल भेजकर बताया कि उनके द्वारा हरदोई के संडीला में रैसो गांव में एस्सार ऑयल लिमिटेड द्वारा स्वीकृत पेट्रोल पंप लगाया जाना है।

 

 

उन्होंने बताया कि पेट्रोल पंप के मुख्य मार्ग की चौड़ाई कम होने के कारण आवश्यक जमीन उपलब्ध कराने के लिए उन्होंने प्रत्यावेदन दिया है, जो मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव एसपी गोयल के स्तर पर लंबित है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement