Film on Pulwama Attack in Bollywood

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

बसपा प्रमुख मायावती गुरुवार को पार्टी मुख्यालय में प्रदेश व मंडल स्तर के वरिष्ठ पदाधिकारियों व जिम्मेदार लोगों को संबोधित कर रही थीं। यहां उन्होंने लोकसभा आमचुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशियों व अन्य जरूरी मुद्दों पर विचार-विमर्श किया। मायावती ने कहा कि प्रत्याशियों व साझा रैलियों का ऐलान जल्द किया जाएगा। वह सपा मुखिया अखिलेश यादव से बात कर चुनावी रणनीति को गति देने का काम करेंगी।

मायावती ने कहा कि यूपी, उत्तराखंड और मध्य प्रेदश में बसपा-सपा काफी बेहतर विकल्प बनकर आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि देशभर में खासकर यूपी में बीजेपी की हालत काफी खराब है, उसे केंद्र की सत्ता जाने का डर सताने लगा है। इस सरकार को जनता अब दूर से ही राम-राम कह रही है।

भाजपा को दिया सावधान रहने का निर्देश

बसपा सुप्रीमो ने तीन मार्च की बैठक में दिए गए निर्देशों पर अमल की समीक्षा की। कहा कि बसपा व सपा नेतृत्व की अपील का आम लोगों पर अच्छा प्रभाव पड़ा है तथा गठबंधन की तीनों पार्टियों के समर्थक आपसी गिले-शिकवे भुलाकर भाजपा को हराने के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने एक बार फिर भाजपा से सावधान रहने का निर्देश दिया। कहा कि भाजपा साम, दाम, दंड, भेद आदि हथकंडों का इस्तेमाल कर चुनाव जीतने में विश्वास रखती है। इसके लिए ईवीएम पर खास ध्यान रखने की भी जरूरत है।

कांशीराम-आंबेडकर की जयंती सादगी से मनाने का निर्देश

बसपा अध्यक्ष ने पार्टी संस्थापक कांशीराम व डॉ. आंबेडकर की जयंती आचार संहिता का सम्मान करते हुए शालीनता व सादगी से मनाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि बसपा-सपा व रालोद गठबंधन की अधिकाधिक सीटें जिताएं ताकि दोनों महापुरुषों के सपने को साकार करने में मदद मिल सके।

बसपा 15 मार्च को कांशीराम व 14 अप्रैल को डॉ. आंबेडकर की जयंती हर वर्ष पूरे उत्साह के साथ मनाती आई है। उन्होंने कहा कि जयंती के दिन कोई ऐसा काम नहीं करना है, जिससे चुनाव आचार संहिता का कोई उल्लंघन हो।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement