Sapna Chaudhary Joins Congress

दि राइजिंग न्यूज

लखनऊ।

 

सोमवार की शाम कुछ खास थी। खूबसूरत मौसम में मशहूर गायिका मालविका हरिओम की सुरीली आवाज ने चार चांद लगा दिए। मौका था फोकटेल्स और लोकायतन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित एक म्यूलजिकल ईवनिंग का।

मालविका ने अपने सुरों के जादू से सभी को अपना प्रशंसक बना लिया। उन्हों ने सोहर सुनाया- “मिथिला मगन भई आज सिया को जनम भयो”। पहली प्रस्तुति सुनकर श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए। इसके बाद उन्होंने खूबसूरत गज़लें सुनाईं- “दिल के दीवारों दर पे क्या देखा, “कागज पे कलम तेरा रुक रुक के चला होगा”, “तुम अपनी रंजोगम अपनी परेशानी मुझे दे दो”, “अजीब दास्तां है ये।”

इसके अलावा उन्होंने कजरी भी प्रस्तुत किया, “नन्हीं नन्हीं बुँदियाँ रे सावन का मेरा झूलना”, “रेलिया बैरन पिया को लिए जाए रे”, “छाप तिलक सब छीनी”, “दमादम मस्त कलंदर।”

लोकगीत, गज़ल और सूफी तीनों की प्रस्तुति को देख-सुन सभी उनके मुरीद हो गए। उनके साथ राकेश आर्या ने गिटार पर संगत की, तबले पर इब्राहिम, कीबोर्ड पर सचिन ने साथ दिया। राज स्मृति ने उम्दा संचालन किया और दर्शकों ने सभी की प्रस्तुतियों को सराहा और दिल खोलकर प्रशंसा की।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement