Home Lucknow News Lucknow DM Strict Over Road Accidents In The City

गुजरात में एक करोड़ की चरस के साथ 2 लोग गिरफ्तार

J-K: अनंतनाग में पुलिस ने राइफल छीनने की कोशिश की विफल

विपक्ष पर PM मोदी का हमला, कहा- कट्टर दुश्मनों को भी बना दिया दोस्त

भ्रष्टाचार के खिलाफ चल रही जांच की वजह से जेल में हैं 4 पूर्व CM: मोदी

राजनीति रिश्ते-नातों के लिए नहीं, बल्कि समाज के लिए कर रहे हैंः PM मोदी

अब ना चलेगी सड़क सुरक्षा में हीला-हवाली

Lucknow | Last Updated : Aug 23, 2017 11:59 AM IST

  • एक के बाद एक हो रहे हादसे
  • हादसों पर तय होगी जवाबदेही


Lucknow DM Strict over Road Accidents in the City


दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

  

क्या आपको मालूम है कि राजधानी में जितनी मौत हिंसा या कत्ल से होती हैं उसके करीब पचास गुना ज्यादा लोग सड़क हादसों में अपनी जान गवां रहे हैं। लापरवाही से वाहन चलाने तथा यातायात नियमों की अनदेखी के चलते हुए होने वाले सबसे ज्यादा सड़क हादसों में राजधानी लखनऊ देश में पहले तीन स्थानों में हैं।

बावजूद उसके प्रशासन की नींद टूटती है न परिवहन विभाग की। सड़क सुरक्षा के लिए अलग शाखा बनी है। जिला इकाईयां हैं लेकिन हकीकत में इसकी जिम्मेदारी विभाग एक दूसरे पर टाल कर पल्ला झाड़ लेते हैं।

 

 

ऐसे में सड़क सुरक्षा को लेकर लखनऊ के जिलाधिकारी ने नई पहल शुरू की है। हादसों पर अंकुश लगाने के मकसद से डीएम कौशल राज शर्मा ने सख्‍ती बरतने को कहा है। इसके लिए जल्द ही पुलिस, ट्रैफिक विभाग और परिवहन विभाग का संयुक्त दस्ता बनाया जाएगा। मदद के लिए इसमें लोकनिर्माण विभाग व नगर निगम भी शामिल किए जाएंगे। यह समिति निरंतर काम करेगी और हर सप्ताह की गई कार्रवाई से प्रशासन को अवगत कराएगी।

डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि- दुघर्टनाओं में हो रहे इजाफे को देखते हुए इसमें किसी प्रकार की हीला-हवाली बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। जिम्मेदार लोगों की जवाबदेही भी तय की जाएगी।

 

 

राजधानी में सड़क सुरक्षा को लेकर तमाम एनजीओ चल रही हैं। इन्‍हें जागरुकता जैसे कार्यक्रमों को आयोजित करने के लिए प्रतिवर्ष लाखों रुपये अनुदान के मिलते हैं लेकिन काम केवल कागजी होता है। महज चंद फोटो और सेटिंग के जरिए ये एनजीओ फलफूल रहे हैं जबकि राहगीर हादसों का शिकार हो रहे हैं। परिवहन विभाग जहां डीएम को जिला सड़क सुरक्षा काउंसिल का अध्यक्ष बताकर पल्‍ला झाड़ लेता है तो वहीं ट्रैफिक पुलिस वीवीआईपी ड्यूटी में ही व्यस्तता का ही राग अलापती रहती है।

 

 

उल्‍लेखनीय है कि मंगलवार को कैंट क्षेत्राधिकारी कार्यालय के पास एक युवती को अज्ञात वाहन ने टक्‍कर मार दी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसी तरह बीकेटी में एक स्‍कूल वैन भी दुघर्टना का शिकार हो गई। हालांकि इस हादसे में किसी बच्‍चे को गंभीर चोट तो नहीं आई लेकिन बच्‍चों की जान खतरे में जरूर पड़ गई थी। इतना ही नहीं हसनगंज के पक्‍का पुल और 1090 चौराहे पर कई घटनाएं हो चुकी है।

 

“सड़क सुरक्षा को लेकर जिस स्‍तर पर कार्रवाई होनी चाहिए थी उस तरह की नहीं हो पाई है। अब इसमें परिवहन के साथ ट्रैफिक पुलिस और थानों की पुलिस को भी सहभागीदार बनाया जाएगा। समग्र बैठक के बाद सभी के लिए जिम्‍मेदारी तय की जाएगी और फिर समीक्षा बैठक के दौरान उनकी जवाबदेही के साथ ही प्रगति की रिपोर्ट देखी जाएगी। उम्‍मीद है कि सड़क दुघर्टना में जान गवां रहे लोगों पर रोक लगेगी और राजधानी में गिरावट देखने में आएगी।”

कौशल राज शर्मा

जिलाधिकारी



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...