Salman Khan father Salim Khan Support MeToo Campaign in Bollywood

दि राइजिंग न्यूज

लखनऊ।

 

राजधानी में 15 जनवरी के बाद बिना अनुमति के लाउडस्पीकर बजाने पर उसे जब्त करते हुए संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इसके साथ ही 21 से 22 जनवरी तक जिला प्रशासन शासनादेश के आधार पर की गई कार्रवाई को शासन और उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के समक्ष रखेगा। इसे देखते धर्मस्थलों पर अनुमति के लिए फॉर्म भरने शुरू कर दिए गए हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को कैसरबाग स्थित स्लासमिक सेंटर ऑफ इंडिया में मस्जिदों के संचालकों ने अनुमति पत्र भरे।

एडीएम पश्चिम संतोष कुमार वैश्य ने कहा कि जो भी होगा नियमों के अनुसार ही होगा। शासनादेश का पालन कराने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

 

 

 

ध्वनि प्रदूषण के बढ़ते रफ्तार को देखते हाईकोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा तो भाजपा की योगी सरकार ने सभी अधिकारियों के लिए शासनदेश जारी करते हुए न्यायालय के आदेश का पालन कराने का हुक्म जारी कर दिया।

 

 

इसके अंतर्गत धर्मस्थालों सहित किसी भी आयोजन में लाउडस्पीकर बजाने पर अनुमति लेने को कहा गया है। बिना अनुमति के लाउडस्पीकर बजाने पर पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 के अंतर्गत पांच साल की जेल या एक लाख रुपये का जुर्माना या दोनों से दंडित किया जाएगा।

 

 

जिला प्रशासन ने आदेश मिलने के साथ ही कार्रवाई शुरू कर दी है। अब तक कई धर्मस्थलों को चिन्हित करते हुए संचालकों को नोटिस और प्रारूप फॉर्म दिया जा रहा है। एडीएम पश्चिम ने बताया कि रविवार तक इनकी संख्या का निर्धारण हो जाएगा। साथ ही अस्थाई अनुमति के लिए भी यही प्रक्रिया अपनाई जाएगी। इसके लिए जिसे अनुमति लेनी होगी वहां की चौकी और संबंधित थाना अपनी रिपोर्ट लगाएगा। इसके बाद जिला प्रशासन से लाउडस्पी‍कर की अनुमति दी जाएगी।

 

अनुमति ना लेने पर 15 से 20 जनवरी तक इनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें जब्त करेगा और फिर जिला प्रशासन 21 से 22 जनवरी तक अपनी रिपोर्ट शासन एवं उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को सौंपेगा। शुक्रवार को पुराने लखनऊ क्षेत्र में खालिद रसीद फरंगी महली के नेतृत्व में मस्जिदों के संचालकों ने फॉर्म लिए और उसे भरकर जमा किया।

 

 

“धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर का चिन्हांकन किया जा रहा है। सं‍बंधित एसीएम, एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में निरीक्षण करके नोटिस और आवेदन पत्र दे रहे हैं। रविवार तक इनकी संख्‍या भी आ जाएगी। पुलिस रिपोर्ट के आधार पर अनुमति दी जाएगी। बिना अनुमति के लाउडस्पीकर बजाने पर जो भी शासनादेश में एक्शन लेने को कहा गया है उसी आधार पर कार्रवाई होगी।”

संतोष कुमार वैश्य

एडीएम पश्चिम

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement