Home Lucknow News Literature Festival In Lucknow

1984 दंगे: सज्जन कुमार को राहत, बेल रद्द करने की SIT की मांग खारिज

PNB घोटाला: गिरफ्तार 12 आरोपियों से CBI की पूछताछ जारी

पुलिस ने वीके जैन का बयान बदलवाया: AAP नेता संजय सिंह

पटना: कोतवाली पुलिस ने 50 लाख कैश के साथ 2 युवक को पकड़ा

नीरव मोदी पर IT की कार्रवाई, हैदराबाद में गीतांजलि ग्रुप की SEZ यूनिट ज़ब्त

लिटरेरी फेस्टिवल: कन्हैया कुमार के पहुंचने पर बवाल, डीएम ने रद्द की परमिशन

Lucknow | 10-Nov-2017 12:40:39 | Posted by - Admin
   
Literature Festival in Lucknow

सभी फोटो- अभय वर्मा

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

शुक्रवार को लखनऊ के शिरोज हैंगआउट में लिटरेरी फेस्टिवल का आयोजन किया गया, जिसका उद्घाटन प्रबीन ताल्हा, अज़ीज़ कुरेशी पूर्व गवर्नर उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मिजोरम और अभिनेत्री दिव्या दत्ता ने किया। यहां का माहौल उस समय राजनैतिक हो गया जब लिटरेरी फेस्टिवल में अपनी किताब “बिहार से तिहाड़”  पर चर्चा के लिए कन्हैया कुमार यहां पर पहुंचे।

 

 

 

कन्हैया कुमार जैसे ही मंच पर बोलने पहुंचे एबीवीपी के कार्यकर्ता मंच पर पहुंच गए और “कन्हैया कुमार वापस जाओ” के नारे लगाते हुए हंगामा करने लगे। कुछ कार्यकताओं ने उन पर हमला करने का प्रयास भी किया।

 

 

 

एबीवीपी समर्थकों के इस हंगामें से लिटरेरी फेस्टिवल पूरी तरह से बा‌धित हो गया। इस कार्यक्रम को आयोजित कर रहीं शिरोज हैंगआउट की एसिड अटैक पीड़ितों ने लगातार एबीवीपी कार्यकर्ताओं को समझाने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने किसी की एक ना सुनी।

 

 

 

 

घटना की सूचना पर करीब एक घंटे बाद पहुंची पुलिस ने विरोध कर रहे कार्यकर्ताओं को वहां से बाहर निकाला। इस दौरान करीब एक घंटे तक कार्यक्रम स्‍थगित रहा। बाद में मंच पर बोलने आए कन्हैया कुमार ने कहा कि यह पहला मौका है जब किसी लिटरेरी फेस्टिवल में मेरा राजनैतिक विरोध हो रहा है।

 

 

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में अलग विचार धारा होने के बावजूद भी एक मंच से दोनों को बोलने की आजादी है। यही लोकतंत्र की खूबी है। यह जनता को तय करने का अधिकार है कि वह किसे सही समझती है और किसे गलत। इस परंपरा को जिंदा रखने की जरूरत है। एबीवीपी कार्यकर्ताओं के इस विरोध पर उन्होंने कहा कि लखनऊ तहजीब का शहर है, और लखनऊ की यह तहजीब तो नहीं है।

 

 

डीएम ने रद्द की परमिशन

वहीं लखनऊ के डीएम कौशल राज शर्मा ने लिटरेरी फेस्टिवल की परमिशन कैंसिल कर दी। उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें आने वाले लोगों के बारे में जानकारी नहीं दी गई। इसीलिए स्‍थानीय निकाय चुनाव के मद्देनजर उन्‍होंने इसकी परमिशन रद्द की।  

 

 

अब 11 और 12 नवंबर को इसका कार्यक्रम नहीं होगा।

 

 

गौरतलब है कि लखनऊ के शिरोज हैंगआउट में 10 से 12 नवंबर तक लिटरेरी फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में अभिनेत्री दिव्य दत्ता, कन्हैया कुमार, अभिसार शर्मा और शत्रुघ्न सिन्हा अपनी पुस्तक चर्चा करने के लिए हिस्सा ले रहे हैं। इस समारोह में आज असदुद्दीन ओवैसी ने भी हिस्‍सा लिया।

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


https://www.therisingnews.com/slidenews-personality/a-day-with-doctor-sarvesh-tripathi-1668



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news