Mona Lisa to use her personal sari collection for new show

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

उत्तर प्रदेश स्‍थानीय निकाय चुनाव की मतगणना जारी है। लखनऊ से मेयर पद बीजेपी की संयुक्ता भाटिया ने भारी मतों से जीता। राजधानी को 100 साल में पहली बार महिला मेयर मिली। इस सीट के लिए सीधी लड़ाई बीजेपी की संयुक्ता, समाजवादी पार्टी की मीरा वर्धन और बहुजन समाजवादी पार्टी की बुलबुल गोडियाल के बीच रही।

 

 

बता दें कि उत्तर प्रदेश म्युनिसिपल एक्ट 1916 में बना था। तब से अब तक कोई भी महिला मेयर नहीं बनी। 2012 में बीजेपी के दिनेश शर्मा मेयर चुने गए थे जो फिलहाल यूपी के उप मुख्‍यमंत्री सीएम हैं। लखनऊ में नगर निगम चुनाव के लिए 26 नवंबर को वोटिंग हुई थी।

 

इनमें शुरू से ही भाजपा की संयुक्‍ता भाटिया की पकड़ रही है और यह पहली बार होगा हुआ जब लखनऊ को महिला मेयर मिली।

 

 

बीजेपी प्रत्‍याशी संयुक्ता भाटिया के बारे में-  

इनका परिवार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़ा रहा है। पति सतीश भाटिया लखनऊ कैंट से बीजेपी विधायक रह चुके हैं। सतीश ने पहली बार इस सीट पर बीजेपी को जीत 1991 में जीत दिलाई थी।

 

आरएसएस में संयुक्ता की अच्छी पकड़ मानी जाती है। 2012 के निकाय चुनाव के दौरान भी संयुक्ता के नाम की अटकलें लगाई जा रही थीं। उन्होंने अपना नॉमिनेशन भी दाखिल कर दिया था, लेकिन बाद में बीजेपी ने डॉ. दिनेश शर्मा के नाम पर मुहर लगा दी थी।

बता दें कि इस बार लखनऊ मेयर की सीट महिला के लिए रिजर्व है।

 

 

कौन बने थे लखनऊ के पहले नगर प्रमुख?

1960 में लखनऊ में नगर निगम बना था। उस वक्त जनसंघ विचारधारा से जुड़े राजकुमार श्रीवास्तव लखनऊ के पहले नगर प्रमुख बने थे। 57 साल के इतिहास में अब तक 18 नगर प्रमुख और महापौर चुने जा चुके हैं। बता दें, 21 नवंबर 2002 से नगर निगम में नगर प्रमुख को महापौर (मेयर) का नाम दिया गया।

 

 

1916 में बना था यूपी नगर निगम कानून

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश नगर निगम एक्ट 1916 में बना था। बैरिस्टर सयैद नबीबुल्लाह पहले भारतीय थे, जो लोकल बॉडी के हेड बने थे। यूपी सरकार ने 1948 में निकाय के चुनावी फॉर्मेट को बदलकर एडमिनिस्ट्रेटर के लिए चुनाव कराना शुरू कर दिया था। इस पोस्ट पर पहली बार भैरव दत्त सनवाल को अप्वाइंट किया गया था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll