Home Lucknow News Latest And Trending Updates Over UP Local Body Elections 2017

J-K: बांदीपुरा ऑपरेशन में 1 जवान शहीद

J-K: बांदीपुरा मुठभेड़ में आतंकी लखवी का भांजा ढेर

दयाल सिंह कॉलेज का नाम बदलने पर सिसोदिया बोले, अतीत प्रेम से बीमार है केंद्र

दाऊद की संपत्ति की नीलामी पर कंपनी को कोई एतराज़ नहीं: छोटा शकील

सोनिया गांधी ने 20 नवंबर को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाई

10 प्रतिशत मतदान अति संवेदशील

Lucknow | 08-Nov-2017 17:35:45 | Posted by - Admin

 

  • नगर निगम चुनाव में स्‍थनीय संघर्ष की उम्मीद ज्‍यादा
   
Latest and Trending Updates over UP Local Body Elections 2017

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

नगर निगम चुनाव इस बार पंचायत व विधानसभा चुनाव से अधिक संवेदनशील हो गए हैं। इस चुनाव में स्थानीय संघर्ष की उम्मीद कहीं अधिक बढ़ गई है। पंचायत चुनाव की तरह एक-एक वोट के लिए मारकाट रहेगी। क्योंकि इस बार नगर निगम के 110 वार्ड में 90 फीसदी से अधिक मतदान केन्द्र अति संवेदनशील और संवेदनशील हैं। यानी मतदान के दिन प्रशासन को हर मतदान केन्द्र पर सुरक्षा व्यवस्था कहीं ज्यादा चाकचौबंद रखनी होगी। जबकि विधानसभा चुनाव नौ विधानसभाओं के 1442 मतदान केन्द्रों में मात्र 98 अतिसंवेदनशील और 107 केन्द्र क्रिटिकट श्रेणी में थे।

सामान्य मतदान केन्द्र मात्र 9 फीसद

 

नगर निगम के 110 वार्डो में फिलहाल 494 मदतान केन्द्र बनाए गए हैं। इनमें से 455 मतदान केन्द्र संवेदनशील और अतिसंवेदनशील श्रेणी में हैं। केवल 10 फीसद से कम (39) मतदान केन्द्र सामान्य श्रेणी में आए हैं।

जोन तीन सबसे अधिक अति संवेदनशील

 

नगर निगम जोन तीन में फैजुल्लागंज, अलीगंज, जानकी पुरम, महानगर, त्रिवेणी नगर, डालीगंज जैसे इलाके आते हैं। जोन तीन में सबसे अधिक 19 वार्ड हैं। इन वार्डो में 78 मतदान केन्द्रों में 53 करीब यानी 70 फीसद केन्द्र अतिसंवेदनशील श्रेणी में आए हैं। जबकी 16 केन्द्र संवेदनशील हैं। यानी यहां पर अपसी टसन का इतिहास कहीं अधिक है। यहां गरीब तबके के मतदाताओं को अपनी ओर करने के लिए संघर्ष अधिक हैं।

तीन जोन में एक भी मतदान केन्द्र सुरक्षित नहीं

 

नगर निगम के तीन जोन ऐसे हैं जहां एक भी मतदान केन्द्र समान्य श्रेणी में नहीं है। यानी वोटरों के लिहाज से सुरक्षित नहीं है। जोन एक, जोन चार व जोन पांच में शतप्रतिशत मतदान केन्द्रों में संघर्ष होने की उम्मीद सबसे अधिक है। जोन एक के 14 वार्डो के 71 , जोन चार के आठ वार्ड के 40 और जोन पांच के 10 वार्डो के 53 मतदान केन्द्रों में सभी संवेदनशील और अति संवेदनशील हैं। इन तीन वार्डो में मुख्य रूप से लालकुंआ, हजरतगंज, गोलागंज, मौलवीगंज, वजीरगंज, चिनहट, गोमतीनगर, पेपरमिल कॉलोनी, सरोजनीनगर, ओमनगर, गीतापल्ली, केशरी खेडा जैसे क्षेत्र आते हैं।

नगर पंचायतों में 45 फीसदी वार्ड अतिसंवेदनशील

 

राजधानी की आठ नगर पंचायतों के 57 मतदान केन्द्रों में 26 अति संवेदनशील हैं। जबकि नौ मतदान केन्द्र संवेदनशील। बीकेटी सबसे बड़ी नगर पंचायत होने के बावजूद यहां के 22 केन्द्रों में केवल छह अति संवेदनशील केन्द्र हैं। जबकि 15 केन्द्र सामान्य हैं। वहीं गोसाईंगंज, अमेठी, मलिहाबाद व नगराम में एक भी मतदान केन्द्र सामान्य श्रेणी में नहीं है।

नगर निगम

मतदान केन्द्र - 494, सामान्य -39, संवेदनशील - 227, अतिसंवेदनशील - 228

नगर पंचायत

मतदान केन्द्र - 57, सामान्य -22, संवेदनशील - 9, अतिसंवेदनशील - 2

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555



संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...




TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news