Actress Natasha Suri to Make Her Bollywood Debut

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

राजधानी में कूड़ा उठाने के काम में लगी नगर निगम की गाड़ियां प्रदूषण ज्यादा फैला रही है। तमाम गाड़ियां बिना पंजीयन के दौड़ रही हैं। खास बात यह है कि करीब तीन साल पहले खरीदी गई गाड़ियां रखरखाव के अभाव में कंडम हो चुकी है लेकिन इनका संचालन लगातार किया जा रहा है। राजधानी में बढ़ते प्रदूषण स्तर के मद्देनजर संभागीय परिवहन अधिकारी ने नगर निगम को नोटिस जारी कर इन वाहनों का फिटनेस तथा प्रदूषण प्रमाणपत्र दुरुस्त कराने के निर्देश दिए हैं। दरअसल सरकारी वाहनों की फिटनेस –प्रदूषण की जांच के आदेश पिछले दिनों जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने दिए थे।

 

खास यह है कि कूड़ा उठाने वाले इन वाहनों को नगर निगम ने खरीदा था और उसके बाद कूड़ा निस्तारण करने वाली एजेंसी के सिपुर्द कर दी गई थीं। उसके बाद से नगर निगम हमेशा ही इन वाहनों का रिकार्ड देने से कतराता रहा है। इस रिकार्ड को लेकर नगर निगम के अधिकारी लंबे समय से टरकाते रहे हैं। करोड़ों रुपये में खरीदी गई ये गाड़ियां अब कबाड़ की तरह से हो गई है। वर्तमान में राजधानी में कूड़ा निस्तारण का काम करने वाली एजेंसी भी इन वाहनों के बारे जानकारी न होने की बात कहती है।

उधर इन कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों को लेकर परिवहन विभाग अब सक्रिय हो गया है। परिवहन अधिकारियों के मुताबिक हर वाहन का पंजीकरण व फिटनेस अनिवार्य है। अब राजधानी में प्रदूषण स्तर भी खतरनाक स्तर तक पहुंच चुका है। इस कारण से नगर आयुक्त को पत्र भेज कर उनसे कूड़ा वाहनों की फिटनेस तथा प्रदूषण प्रमाणपत्र लेने को कहा गया है। इसके साथ ही इन वाहनों की जांच के लिए प्रवर्तन शाखा को निर्देशित किया गया है। अगले सप्ताह से इसकी जांच कराई जाएगी। अगर वाहन बिना प्रदूषण प्रमाणपत्र के चलते मिले तो उन्हें बंद किया जाएगा।

 

नगर आयुक्त को कूड़ा उठाने वाले वाहनों का प्रदूषण प्रमाणपत्र व फिटनेस लेने को कहा गया है। इसके बाद भी वाहनों की जांच नहीं कराई जाती है तो इन वाहनों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाएगी।

एके सिंह

संभागीय परिवहन अधिकारी

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll