Box Office Collection of Race 3

दि राइजिंग न्‍यूज

आशीष सिंह

लखनऊ।

 

यौन रोगों के उपचार में खुद को खानदानी चिकित्सक बताने वाले और देश के तमाम दिग्गज और प्रख्यात लोगों के साथ इश्तिहार छपवाने वाले डॉ. एसके जैन फिलवक्त अपने खानदानी पेशे से विमुख दिख रहे हैं। दरअसल प्रशासन की सख्‍ती और बिना जरूरी दस्‍तावेजों के लोगों के यौन रोगों का उपचार करने वाले डॉ. एसके जैन के यहां पिछले दिनों दो बार हुई ताबड़तोड़ छापेमारी के बाद अब उनके होर्डिंग्स से सेक्स इलाज गायब हो चुका है। तालाबंदी के बाद तमाम होर्डिंग हटाने के आदेश पर सेक्‍स क्‍लीनिक के होर्डिंग जरूर हट गए हैं लेकिन डॉ. साहब का परचम अभी भी लहरा रहा है। हालांकि उनकी चिकित्सकीय डिग्री की जांच अभी चल रही है।

बर्लिंग्‍टन चौराहा स्थित डॉ. एसके जैन खुद को देश का सर्वेश्रेष्ठ चिकित्सक होने का प्रचार करते रहे हैं। लोगों को प्रभावित करने के लिए उसने मुख्‍यमंत्री से ले‍कर उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या, बाबा राम देव सहित तमाम लोगों के साथ फोटो भी लगवा रखी है। यौन रोगियों को उल्‍टी-सीधी दवा देकर मोटा मुनाफा कमा रहे जैन क्‍लीनिक के खिलाफ बीते दिनों किसी ने मुख्‍यमंत्री के जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत कर दी। इसके बाद यहां पर एफएसडीए से लेकर स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीमों ने छापेमारी करते हुए जांच की तो पता चला कि खानदानी पेशा के नाम पर यौन रोंगों का उपचार करने वाले डॉ. एसके जैन के पास ना तो रजिस्‍ट्रेशन है और ना कोई डिग्री। इतना ही नहीं उप मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी डॉ. एसके रावत के साथ तो डॉ. जैन सेक्‍स क्‍लीनिक के कर्मचारियों ने अभद्रता और धक्‍का-मुक्‍की भी की थी। मामले पर सेक्‍सोलॉजिस्‍ट को अपनी डिग्री और रजिस्‍ट्रेशन दिखाने का नोटिस दिया गया।

प मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी ने डॉ. एसके और एके जैन के सेक्‍स क्‍लीनिक को तुरंत ही बंद करवा दिया। नोटिस जारी होने के अगले ही दिन एसके जैन ने अपनी अधिकारियों को दिखाई और अगले दिन उन्‍होंने शहर में लगे अपने सेक्‍सोलॉजिस्‍ट वाले होर्डिंग को हटाने का शपथ पत्र भी दे दिया। इसके बदले उन्‍होंने क्‍लीनिक को खोलने की अपील भी की लेकिन अधिकारियों ने उनकी मांग को सिरे से खारिज कर दिया। उप चिकित्‍साधिकारी ने बताया कि डिग्री जांच के लिए भेजी गई है। रिपोर्ट आते ही आगे की कार्रवाई होगी। 

लखनऊ से दिल्ली तक फैला गोरखधंधा

खास बात यह है कि सेक्स क्लीनिक चलाने वाले डा. एसके जैन के क्लीनिक दिल्ली तक चल रहे हैं। वहां पर उनके पुत्र ने इस उपचार का जिम्मा उठा रखा है लेकिन राजधानी में छापेमारी के बाद जिस तरह से गोरखधंधा सामने आ रहा है, उससे दिल्ली में भी जांच की तैयारी शुरू हो गई है। मामले की जांच से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि इस प्रकरण में जल्द ही दिल्ली भी रिपोर्ट भेजी जाएगी और वहां पर भी क्लीनिक की जांच कराई जाएगी। इस संबंध में प्रशासन ने भी जांच की सिफारिश करने का दावा किया है।

“शहर भर से अपनी होर्डिंग हटाने को लेकर एसके जैन ने शपथ पत्र दिया है। उन्‍होंने अपने सभी बोर्ड और होर्डिंग हटा लिए हैं। एक-आध जगह पर जहां भी बोर्ड लगे हैं उनमें से सेक्‍सोलॉजिस्‍ट शब्‍द को हटा दिया गया है। बाकी तो मामले की जांच की जा रही है रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई होगी।”

डॉ. एसके रॉवत

डिप्‍टी सीएमओ

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll