Mona Lisa to use her personal sari collection for new show

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ। 

 

योग्यता दसवीं जमात पास, मगर जिम्मेदारी निकाय चुनाव में प्रथम मतदान अधिकारी की। दरअसल नगरीय निकाय चुनावों में मतदान कर्मियों की सूची बनाने में विभागों का जो रवैया सामने आ रहा है, उसमें इस तरह की तमाम खामियां देखने को मिल रही हैं।

 

 

खाद्य एवं रसद आयुक्त के यहां तैनात प्रकाश वर्मा भी इसी तरह से प्रथम मतदान अधिकारी बनाए गए हैं। इसी तरह से कई और चालक भी निकाय चुनाव में मतदान अधिकारियों की भूमिका में नजर आएंगे।

 

 

 

काबिले जिक्र है कि चालकों को मतदान ड्यूटी में लगाया ही नहीं जाना था लेकिन इसके बाद भी विभागीय त्रुटियों के कारण से उनके नाम हटाए नहीं गए। नतीजा य़ह रहा कि चालकों को भी मतदान कर्मियों की ड्यूटी लगा दी गई है। ड्यूटी आदेश मिलने के बाद कर्मचारी परेशान हैं लेकिन अब उसमें सुधार की गुंजाइश भी कम दिखाई दे रही है।

 

 

उधर प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि सभी विभागों को इस संबंध में सूचित कर दिया गया था कि गर्भवती महिला कर्मचारियों अथवा चालकों के नाम सूची में न दिए जाएं, लेकिन विभागों ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। इस कारण इन कर्मियों के नाम विभागीय सूची में आए और इसी कारण उन्हें ड्यूटी में शामिल कर लिया गया।

 

 

मतदान अधिकारियों की तैनाती कर्मियों के वेतनमान के आधार पर की गई थी। 6600 रुपये वेतनमान वाले कर्मियों की मतदान में ड्यूटी लगाई गई है। इस कारण से साफ्टवेयर द्वारा जिन कर्मियों के नाम आए थे, उनकी ड्यूटी लगा दी गई है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll