Box Office Collection of Race 3

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

आज पूरा देश अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मना रहा है और इस मौके पर भारतीय रेलवे ने एक अनूठी पहल की है। प्रयाग इंटरसिटी में चलने वाले यात्रियों के लिए गुरुवार का सफर कुछ अनूठा होगा। महिला दिवस पर इस ट्रेन के सुरक्षित संचालन की जिम्मेदारी महिला लोको पायलट और गार्ड पर होगी, जबकि यात्रियों के टिकट चेक करने के लिए भी महिला चेकिंग स्टॉफ लगाया जाएगा।

 

 

उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल में यह पहला मौका होगा जब गुरुवार को पूरी ट्रेन की जिम्मेदारी महिलाओं के कंधे पर होगी। सीनियर डीसीएम शिवेंद्र शुक्ला ने बताया कि ट्रेन 14210 लखनऊ प्रयाग इंटरसिटी को चलाने की जिम्मेदारी महिला लोको पायलट व महिला गार्ड को दी गई हैं।

 

 

उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल प्रशासन ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को मनाने के लिए लखनऊ-प्रयाग इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का चयन किया गया। उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल में महिला सहायक लोको पायलट और लोको पायलट ने अभी तक मालगाड़ी के साथ पैसेंजर ट्रेन को चलाया था।

शिवेंद्र शुक्ल ने बताया कि यह पहल नारी सशक्तीकरण के परिचायक के रूप में की जा रही है। ट्रेन में करीब एक हजार यात्री अपना सफर करेंगे तो इस मौके पर महिला रेलकर्मियों की कर्तव्य परायणता और उनकी शानदार कार्यशैली से रूबरू होंगे।

सहायक लोको पायलट ममता यादव गोरखपुर की मूल निवासी हैं। उन्होंने 2016 में आरआरबी चंडीगढ़ से अपनी सहायक लोको पायलट की परीक्षा पास की। इसके बाद उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल में उनको तैनाती मिली। ममता यादव चार बहन व एक भाई में सबसे बड़ी हैं।

गौरतलब है कि रेलवे में गैंगमैन से लेकर कंट्रोलर तक की जिम्मेदारी महिलाएं बखूबी निभा रही हैं। स्टेशन मास्टर, लोहे के भारी औजार लेकर पटरी मरम्मत का काम करने वाली महिला गैंगमैन, कुली और स्टेशन मास्टर की जिम्मेदारी भी महिलाएं संभाल रही हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll