Anushka Sharma Banarsi Saree Look Goes Viral on Social Media

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

देश में जीएसटी भले ही लागू हो गया हो और व्‍यापारी भी जीएसटी में पंजीकृत हो गए हों इसके बाद भी व्‍यापारी टैक्‍स चोरी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। बीते 10 फरवरी को जीएसटी के अधिकारियों ने चारबाग रेलवे स्‍टेशन में छापेमारी करते हुए बड़ी टैक्‍स चोरी पकड़ी थी। एडिशनल कमिश्‍नर अनंजय कुमार रॉय ने बताया कि जांच में यह बात सामने आयी है कि रेल-वे के वैगनों से सामान मंगवाने वाले व्‍यापारी जीएसटी में पंजीकृत थे यानी कि एक भी ऐसा व्‍यापारी नहीं था जो जीएसटी में पंजीकृत ना हुआ हो। इस तरह से व्‍यापारी टैक्‍स चोरी करते हुए सरकार को चूना लगाकर बड़ा मुनाफा कमा रहे थे।

 

एडिशनल कमिश्‍नर ने बताया कि ऐसी सूचना मिली थी कि बड़े पैमाने पर कम टैक्स देकर लखनऊ माल लाया जा रहा है। इसमें कोलकाता, मुंबई, दिल्ली के दलालों की मिली भगत थी। इसके बाद ही जब छापेमारी हुई तो कोलकाता से आए चार वैगनों में जीएसटी चोरी पकड़ी गई थी। इसमें रेडीमेड कपड़ों के साथ इलायची और कई प्रकार की वस्‍तुएं शामिल थे। टैक्‍स चोरी करने के लिए यह व्‍यापारी माल बड़े पैमाने पर खेल खेल रहे हैं। चारबाग में वैगन से जब माल पहुंचता है तो यहां पर वैगन के ठेकेदार के एजेंट सक्रिय हो जाते हैं। वह खुद ही वैगनों से सामान निकाल कर ऑटो, लोडर और अन्‍य वाहनों से शहर के मुख्‍य बाजारों तक पहुंचाते हैं।

अब तक 80 लाख रुपये हुआ जुर्माना-

पकड़े गए सामान पर अब तक व्‍यापारियों से 80 लाख रुपये का जुर्माना वसूला जा चुका है। हालांकि कुल कितना जुर्माना वसूला जाना है इस बात पर एडिशनल कमिश्‍नर ने बताया कि जब तक अंतिम रिपोर्ट नहीं आ जाती है तब तक कुछ भी कहना जल्‍दबाजी होगी। अभी भी रिपोर्ट बनाई जा रही हैं संभव है कि अभी इसमें समय लग सकता है। उन्‍होंने कहा कि मंगाए गए वस्‍तुओं में कितने व्‍यापारी सम्‍मलित थे इस बात की भी कोई जानकारी नहीं है। जल्‍द ही पूरा मामला साफ हो जाएगा। 

“चारबाग रेलवे स्‍टेशन के पार्सल भवन से जो भी वस्‍तुएं पकड़ी गईं थी उनमें सभी व्‍यापारी जीएसटी में पंजीकृत थे। इन व्‍यापारियों से अभी तक 80 लाख रुपये का जुर्माना वसूला जा चुका है शेष पर कार्रवाई चल रही है। एक अप्रैल से रेलवे में भी ई-वे बिल लागू हो जाएगा। बिना ई-वे बिल के यदि रेलवे माल की ढ़ुलाई करता है और टैक्‍स चोरी होती है पूरी जवाबदेही रेलवे की मानी जाएगी।”

अनंजय कुमार रॉय

एडिशनल कमिश्‍नर वाणिज्‍य कर

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement