Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

लखनऊ।

यूपी में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार, उत्पीड़न और बलात्कार जैसी घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं। प्रदेश की महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। जिन महिलाओं के साथ ऐसी घटनाएं होती हैं वे सालों साल न्याय की आस में दर दर की ठोकर खाने के लिए भटकती रहती हैं। कुछ ऐसा ही हुआ करनैलगंज गैंगरेप की शिकार महिला के साथ। शनिवार को न्याय न मिलने से पीड़िता ने विधानसभा पर पूरे परिवार के साथ आत्मदाह करने की कोशिश की।

 

पीड़िता का आरोप है कि गांव के दबंगो ने उसका सामूहिक बलात्कार किया है। पीड़िता ने बताया कि वे लगभग दो महीने से थाने के चक्कर लगा रही है और न्याय की गुहार लगा रही है। लेकिन दबंगो के साथ मिलकर करनैलगंज इंस्पेक्टर अजीत सिंह लगातार धमकियां दे रहे हैं। बे पत्रकारों और नेताओं को भी गालियां देते हैं जिसकी रिकॉर्डिंग भी पीड़िता के पास है। पीड़िता के पति ने बताया कि वह न्याय की आस लेकर शासन प्रशासन के चक्कर लगा कर थक चुका है इसलिये आज पूरे परिवार के साथ विधानसभा पर आत्मदाह करने आया था।

पीड़िता के पति ने कहा एक ओर मुख्यमंत्री महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान की बात करते हैं तो दूसरी ओर उनकी पुलिस महिला को न्याय दिलाने की जगह धमकियां दे रही है। ये कैसी व्यवस्था है कि अपराधी मूछों पर ताव देते हुए खुले आम घूम रहे हैं और पीड़ित न्याय की आस में दर-दर भटक रहा है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement