Rani Mukerji to Hoist the National flag at Melbourne Film Festival

दि राइजिंग न्यूज़

लखनऊ।

 

फोन कर के एटीएम का पिन मांगकर ठगी करने का तरीका अब पुराना हो गया है। अब ठगों ने दूसरा तरीका निकाला है और धड़ल्‍ले से बैंक अकाउंट में हाथ साफ करने में लगे हुए हैं।

 

लखनऊ में फेक कॉल का एक और मामला सामने आया है। यह कॉल अकाउंट डिटेल्स के लिए नहीं बल्कि आधार कार्ड को लिंक कराने के लिए की गई थी। शातिर जालसाजों ने आधार कार्ड को खाते से लिंक करने के नाम पर पांच सरकारी कर्मचारियों को ठगी का शिकार बना लिया।

जालसाज़ी अब लिंक करवाने में भी

 

मामला शहर के हजरतगंज इलाके का है। पीड़ितों के मुताबिक एक शख्स ने उन्हें फोन किया और बैंक अकाउंट से आधार लिंक कराने के लिए कहा। उन्होंने अपना आधार नंबर उस शख्स के साथ साझा कर दिया। जिसके बाद उनके अकाउंट से पैसे कट गए। अकाउंट्स से लगभग 2.5 लाख रुपये निकाल लिए गए हैं।

केस एक-

 

पहला शिकार शिवराम वर्मा बने जो सचिवालय में बतौर सेक्शन अफसर कार्यरत हैं। शिवराम को एक फोन आया। जिसमें एक शख्स ने खुद को बैंक अधिकारी बताते हुए उनका आधार नंबर पूछा। उस शख्स ने बताया कि अगर आधार लिंक नहीं कराया तो उनका अकाउंट ब्लॉक हो जाएगा।

 

शिवराम ने आसानी से उस शख्स को अपना आधार नंबर दे दिया। जिसके बाद उस शख्स ने डेबिट कार्ड नंबर मांगा। शिवराम के मोबाइल में ओटीपी आया। शिवराम ने उस शख्स को ओटीपी बताया। जिसके कुछ देर बाद उनके अकाउंट से दो बार में 80 हजार रुपये कट गए।

केस दो-

 

कुछ ऐसा की वाकया सचिवालय में कार्यरत ब्रजेश के साथ हुई। उनके पास भी इसी तरह एक फोन आया। उन्होंने उस शख्स को जानकारी दी और कुछ समय बाद उनके अकाउंट से 60 हजार रुपये कट गए।

केस तीन-

 

इसी तरह की ठगी की शिकार स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत निर्मला भी हुई, उनके अकाउंट से 20 हजार रुपये निकाले गए।

केस चार-

 

एलडीए में क्लर्क गिरीश चंद के अकाउंट से 50 हजार तो क्लर्क कृष्णश्री के अकाउंट से 40 हजार रुपये उड़ा लिए गए। सभी मामले साइबर सेल में दर्ज हैं। साइबर सेल इन मामलों की जांच कर रहा है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll