Vicky Kaushal on Pulwama Terrorist Attack befitting answer must be given to Terrorism

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

सैनिक... इतना सुनते ही हमारा सिर शान से ऊंचा और सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। क्‍योंकि ये हमारे रक्षक हैं और इन्‍हीं की वजह से हम आजादी व सुरक्षा महसूस करते हैं। विजय कारगिल की यादें कभी किसी के ज़हन से मिट नहीं सकती हैं और इन्‍हें संजोए रखने के लिए प्रशासन भी प्रयासरत रहता है। इसीलिए लखनऊ महोत्‍सव में विजय कारगिल की झांकी प्रस्‍तुत की गई, पर वहां का नज़ारा देख दिल बैठ गया।

   

   

 

महोत्‍सव के तीन-चार दिन बीते थे कि विजय कारगिल की झांकी का लोगों ने ऐसा हाल कर दिया, जो हमें ही अपमानित कर रहा है। यहां प्रतीकात्‍मक सैनिकों के साथ फोटो खिंचवाने और सेल्‍फी लेने की होड़ में उन्‍होंने उनकी दशा दयनीय स्थिति में कर दी। दि राइजिंग न्‍यूज के फोटो जर्नलिस्ट कुलदीप सिंह के कैमरे से कैद की गईं ये तस्‍वीरें ही अपना दर्द बयां कर रही हैं।

 

 

इन तस्‍वीरों को देखकर मन में एक ही सवाल उठता है कि क्या हम ऐसे देंगे अपने वीर सैनिकों को सम्मान? जो हमारे देश और हमारे प्राणों की रक्षा के लिए खुद को न्योछावर कर देते हैं, हम उनके साथ ऐसा व्‍यवहार करेंगे?

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement