Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

आलमबाग बस अड्डे पर उतर कर सीधे मेट्रो स्टेशन पर पहुंचें और फिर अपने घर अथवा गंतव्य पर। जी हां, मंगलवार से यह सुविधा लोगों को मिलने लगी। विश्वस्तरीय मानक पर तैयार आलमबाग बस अड्डे का उद्घाटन मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस तरह के और भी बस अड्डे बनवाए जाएंगे। रोडवेज अधिकारियों ने बताया कि बुधवार से आलमबाग बस अड्डे से नियमित संचालन शुरू हो जाएगा।

 

 

थ्री पी माडल (पब्लिक, प्राइवेट, पार्टनरशिप) कई खूबियों वाले आलमबाग बस अड्डे पर पचास बसों के लिए प्लेटफार्म हैं तो पचास बसों के लिए बेसमेंट पार्किंग। यानी बस अड्डे के बाहर सड़क किनारे बसें नहीं दिखेंगी। यात्री सुविधाओं से लैस आलमबाग बस अड्डे पर वातानुकूलन तथा तापमान नियंत्रक लगाए गए हैं, जिससे बस अड्डे पर यात्रियों को किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी। बस अड्डे पर यात्रियों को बसों के आवागमन की जानकारी देने के लिए प्लाज्मा स्क्रीन लगाई गई हैं, जबकि बस अड्डे पर प्रवेश करने वाले मुसाफिरों की सामान की जांच के लिए स्कैनर लगाए गए हैं।

 

 

बस अड्डे को सीधे आलमबाग मेट्रो स्टेशन से जोड़ा गया है यानी मेट्रो से सफर करने वाले वालों को सड़क तक नहीं जाना होगा बल्कि वह बस अड्डे से सीधे मेट्रो स्टेशन आ-जा सकेंगे। इसके लोगों को जाम से जूझना होगा न अन्य कोई परेशानी। कम समय में ही वह अपने गंतव्य तक पहुंच सकेंगे।

 

 

बस अड्डे के उद्घाटन के अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आलमबाग बस अड्डा बदलते लखनऊ की पहचान है। शहर की परिवहन व्यवस्था विकास का आईना होती है और राजधानी में परिवहन निगम द्वारा लगातार लोगों को सस्ता सुलभ परिवहन उपलब्ध कराने की दिशा में काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि थ्री पी माडल पर बना प्रदेश का पहला बस अड्डा है, जिसमें सरकार या रोडवेज कोई व्यय नहीं हुआ है। इस तरह के बस दूसरे शहरों मे भी बनवाए जाएंगे।

 

 

मौजूद रहे उपमुख्यमंत्री सहित कई मंत्री

आलमबाग बस अड्डे के उद्घाटन के मौके पर उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के अलावा परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, मंत्री आशुतोष टंडन, रीता बहुगुणा जोशी, महेंद्र सिंह, बृजेश पाठक व स्वाति सिंह उपस्थित रहीं। सरकार को खुश रखने के लिए परिवहन विभाग ने कई पुरानी बसों को ही नारंगी रंग कराकर सजाकर प्रस्तुत किया।

 

 

 

 

रोडवेज- एक नजर

बसें– 12,143

प्रतिदिन संचालन– 34 लाख किमी

यात्री प्रति महीने– करीब पांच करोड़

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll