Home Lucknow News Celebrations Of Barawafat In Lucknow

केंद्र पूर्वोत्तर में 4 हजार किलोमीटर के नेशनल हाईवे को मंजूरी दे चुका है: PM मोदी

रायबरेली से मैं नहीं मेरी मां चुनाव लड़ेंगी: प्रियंका गांधी

दिल्ली पुलिस ने पकड़े शातिर चोर, कार की चाबियां और माइक्रो चिप जब्त

देश की जनता कांग्रेस के साथ नहीं, खत्म हो रही है पार्टी: संबित

जल्द ही CCTV दिल्ली में लग जाएंगे, टेंडर पास: केजरीवाल

ईद उल मिलाद उल नवी के जुलूस में उमड़ा हुजूम

Lucknow | 02-Dec-2017 17:25:36 | Posted by - Admin

अंजुमनों ने पढ़ा कलाम, पेश किया नजराना ए अकीदत

सुरक्षा में एटीएस कमांडो से लेकर भारी फोर्स रहा तैनात

   
celebrations of Barawafat in Lucknow

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

हजरत मोहम्‍मद साहब के जन्मदिन ईद उल मिलाद उल नवी (बाराबफात) के अवसर पर पुराने लखनऊ सहित पूरे शहर में अंजुमनों का हुजूम उमड़ पड़ा। जगह-जगह हो रहे स्‍वागत के बीच लोगों का उत्‍साह देखते बन रहा था। एटीएस और भारी सुरक्षा के बीच यह जुलूस अमीनाबाद के झंडेवाला पार्क से शुरू हुआ। इसके बाद यह मौलवीगंज, रकाबगंज, नादान महल रोड, यहियागंज तिराहा, नख्‍खास तिराहा, टूडियागंज, हैदरगंज के लालमाधव तिराहा होते हुए ऐशबाग स्थित ईदगाह पहुंचा और यहीं पर समापन भी हो गया। इस दौरान जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और एसएसपी दीपक कुमार भी जुलूस में शामिल होकर सुरक्षा का जायजा लेते रहे।

फोटो: अभय वर्मा 

फोटो: अभय वर्मा 

हजरत मुहम्मद मुस्तफा सल्लाहो आलेही वस्ल्लम की योमे पैदाइश पर शनिवार को बेहद खुशनुमा माहौल में जुलूसों का निकलना शुरू हुआ। अमीनाबाद से शुरू हुए जुलूस में भारी संख्‍या में अंजुमनों ने नबी-ए-करीम को याद करते हुए नजराना-ए-अकीदत पेश किया। जुलूस के आगे मौलाना कलाम पढ़ते चल रहे थे। रंग बिरंगे झंडों को लेकर कई टोलियों में अंजुमन चल रहे थे। डीजे और बैंड की धुन में जहां लोग नाचते गाते नजर आ रहे थे तो वहीं बीच-बीच में अंजुमनों के स्‍वागत के लिए फूलों की बैछार की जा रही थी। लोग अपनी छतों से भी तरह-तहर के फूल बरसा रहे थे। अकीदत मंदों के झुंड जब एक दूसरे से मिलते तो डीजे और बैंड के शोर और बढ़ जाते। लोग एक दूसरे से गले मिलकर त्‍योहार को मना रहे थे। बग्घी को सजाकर मौलाना लोगों के बीच पहुंचे थे। इस बीच अपने पैगंबर के जश्ने विलादत मनाने के लिए लोगों का जोश देखते ही बन रहा था। जुलूस में शामिल अंजुमने तरतीब से एक-दूसरे के पीछे चल रही थीं। अकीदत मंद नारा-ए-तकबीर और नार-ए-रिसालत बुलंद करते हुए जा रहे थे। मौलाना भी इस दौरान अलग-अलग तकरीरें करते रहे। संवेदनशीलता को देखते हुए जिला प्रशासन और पुलिस ने सुरक्षा के बेहतर प्रबंध किए थे। इसके लिए एटीएस कमांडो, सीआरपीएफ, पीएसी, सीपीएमएफ के साथ भारी मात्रा में पुलिस बल और दंगा नियंत्रण भी मौजूद रहा।

फोटो: अभय वर्मा 

फोटो: अभय वर्मा 

प्रतिबंधित जुलूस ए मोहम्‍मदी भी निकला-

 

प्रतिबंधित जुलूस ए मोहम्‍मदी भी अपने तय समय पर निकला। हालांकि एडीएम पश्चिम संतोष कुमार वैश्‍य और एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी जुलूस के आसपास ही नजर आए। पिछले वर्ष यह जुलूस मल्‍टी लेवल पार्किंग तक में हुई थी हालांकि तब यहां पर निर्माण कार्य नहीं हो रहा था। इसलिए प्रशासन ने भी अनुमति दे दी थी। इस बार भी जुलूस ए मोहम्‍मदी के कर्ताधर्ता मल्‍टी लेवल पार्किंग की छत पर सभा करने की अनुमति मांग रहे थे लेकिन प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं दी। यह जुलूस शाहमीना से होते हुए नींबू पार्क और मल्‍टी लेवल पार्किंग के बीच से निकली सड़क पर समाप्‍त हुआ। यहीं पर अंजुमनों ने तकरीरें की।

इस बार हरदोई रोड से घंटाघर होते हुए नींबू पार्क तक एक और जुलूस निकला हालांकि एडीएम पश्चिम इसे पुराना जुलूस ही बताते रहे लेकिन जानकारों की मानें तो यह जुलूस बीते दो-तीन सालों में कभी नहीं निकला था। अचानक इस जुलूस के निकलने को लेकर लोगों के बीच तहर-तहर के कयास लगते रहे।  

फोटो: अभय वर्मा 

 

फोटो: अभय वर्मा 

फोटो: अभय वर्मा 

फोटो: अभय वर्मा 

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news