Salman Khan Helped Doctor Hathi

दि राइजिंग न्यूज

लखनऊ।

 

इंदिरानगर में रहने वाले बृजेश कुमार ने गत शनिवार को लेखराज मार्केट स्थित स्टेट बैंक आफ इंडिया के एटीएम से चार हजार रुपये निकाले थे। एटीएम से जो नोट निकले, उनमें पांच सौ का एक नोट काफी कटा हुआ था। कटा हुआ नोट देखकर उन्होंने सबसे पहले एटीएम के गार्ड को उसकी सूचना दी।

गार्ड ने बैंक के एक अधिकारी दीपक कुमार का फोन नंबर देकर उनसे संपर्क करने तथा नोट बदलने को कहा। फोन पर संपर्क करने पर बैंक अधिकारी ने उन्हें मुख्य शाखा में संपर्क करने को कहा।

 

 

परेशान बृजेश पांच सौ रुपये का फटा नोट लेकर मुख्य शाखा पहुंचे तो बैंक अधिकारियों ने उनसे एटीएम का आइडी नंबर बताने को कहा। उसके बाद उन्हें एटीएम आइडी नंबर लाने को कहा गया। उसके बाद वह दोबारा वापस एटीएम पहुंचे और आइडी लेकर गए। पीड़ित बृजेश कुमार का कहना है कि बैंक का रवैया बेहद ही उपेक्षापूर्ण रहा।

 

 

 

पहला सवाल यह है कि जिस कर्मचारी ने फटा नोट लगाया उस पर कार्रवाई करने और उपभोक्ता का नोट बदलने के बजाए एटीएम का कोड पता करने भेजना कतई ग्राहक सेवा नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने इस संबंध में बैंक उच्चाधिकारियों को शिकायत भेजने का भी दावा किया है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll