Jhanvi Kapoor And Arjun Kapoor Will Seen in Koffee With Karan

दि राइजिंग न्‍यूज

अमित सिंह

लखनऊ।

 

कानूनन विद्युत वितरण कंपनी के अलावा कोई ठेकेदार या अन्य व्यक्ति बिजली नहीं बेच सकता है, लेकिन राजधानी में लेसा अभियंताओं के संरक्षण में बिल्डर खुलेआम बिजली बेच रहे हैं। वह भी मनमाने दाम पर। इन कांप्लेक्स में सिंगल पॉइंट कनेक्शन लेकर उपभोक्‍ताओं से मनमाने रेट पर बिजली बेची जा रही है।

आलम यह है कि लेसा को भले ही थ्रू रेट निकालना मुश्किल हो रहा है, लेकिन बिल्डर उसी बिजली हर महीने मोटी कमाई कर रहे हैं। खास बात यह है कि यह खेल तमाम बड़े अपार्टमेंट से लेकर अवैध अपार्टमेंटों में चल रहा है। मगर लेसा अभियंताओं को इससे कोई सरोकार नहीं है।

 

 

इस खेल में बिल्‍डर, अभियंता और समितियां शामिल हैं। बड़ी-बड़ी इमारमों में रहने वाले उपभोक्‍ताओं को सिंगल पॉइंट कनेक्शनधारक महंगी बिजली बेच रहे हैं। राजधानी में हजारों ऐसे बिल्डर व सोसाइटी हैं, जहां बिजली उपभोक्‍ताओं से तय यूनिट से अधिक बिल वसूला जा रहा है। इसके सबसे ज्यादा शिकार गोमतीनगर और वृंदावन, हुसैनगंज के बिजली उपभोक्‍ता हो रहे हैं।

 

 

ओमैक्स हाईट्स सोसायटी के रेजीडेंट ने की शिकायत

गोमतीनगर स्थित ओमैक्स हाईट्स सोसायटी के रेजीडेंट ने विद्युत नियामक आयोग व पावर कॉरपोरेशन में शिकायत की थी कि ओमैक्स हाइट्स अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन ने लेसा से बिजली का सिंगल पाइन्ट कनेक्शन है। पूरे कैम्पस में 532 फ्लैट है। सोसाइटी का 2097 किलोवाट का कनेक्शन है। यानी सोसाइटी बल्क लोड डीम्ड फ्रेंचाइजी है।

 

इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई टैरिफ के अनुसार डीम्ड फ्रेंचाइजी प्रॉफिट नहीं कमा सकती है। इसे नो प्रोफिट नो लॉस पर चलाना होता है, लेकिन यहां 500 फ्लैटों से 9 किलोवाट लोड और 32 फ्लैट से 13 किलोवाट लोड के हिसाब से फिक्स लोड चार्ज वसूला जा रहा है। यानी 4916 किलोवाट का पैसा वसूला जा रहा है। यानी स्वीकृत लोड से 2819 किलोवाट ज्यादा। हालांकि ओमैक्स हाइट्स अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन की अध्यक्ष बकुल सक्सेना ने इस मुद्दे में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

 

 

सामिया अपार्टमेंट में 6.72 रुपये प्रति यूनिट बिल वसूली

वृंदावन स्थित सामिया अपार्टमेंट में लोगों से 6.72 रुपये यूनिट प्रतिकिलो वसूला जा रहा है। वहीं आकाश एन्क्लेव में रहने वाले आवंटियों को सिर्फ इसलिये अधिक बिल देना पड़ रहा है क्योंकि पावर फैक्टर कम आ रहा है।

 

 

समितियां वसूल रही हैं 25,000 प्रति किलोवाट का चार्ज

राजधानी की कई समितियां अपार्टमेंट में रहने वाले उपभोक्ताओं से बिजली का बिल ही ज्यादा नहीं वसूल रही हैं। बल्कि नए कनेक्शन लेने पर भी जमकर वसूली कर रही हैं। अपार्टमेंट में नए कनेक्शन के लिए बिल्डर और समितियां 25,000 रुपये प्रति किलोवाट तक का चार्ज वसूल रही हैं।

 

 

पांच प्रतिशत अतिरिक्त चार्ज ले सकती हैं समितियां

राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने कहा कि बिल्डर या समितियां सिंगल पॉइंट बल्क लोड के तहत घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं से पांच प्रतिशत अधिक चार्ज वसूल सकती हैं। उसके मुताबिक फिक्स चार्ज 85 प्रति किलोवाट व यूनिट चार्ज 5.50 रुपए प्रति यूनिट है। इसके अलावा कोई भी अन्य चार्ज लेना गलत होगा।

 

 

मनमानी पर अंकुश लगाने में नाकाम लेसा

समितियों, बिल्डरों की मनमानी के बाद भी पावर कॉरपोरेशन कुछ नहीं कर पा रहा है। लेसा के अधीक्षण अभियंता सीपी यादव ने बताया कि सिंगल पॉइंट कनेक्शन के मामले में उसका अधिकार केवल सिंगल पॉइंट मीटर तक सीमित है। हालांकि सोसायटी के प्रार्थना पत्र पर परिसर की जांच की होगी।

 

 

विद्युत व्यथा निवारण फोरम में कर सकते हैं शिकायत

विद्युत नियामक आयोग के सचिव संजय श्रीवास्तव के मुताबिक कोई भी बिल्डर जो सिंगल प्वांइन्ट का कनेक्शन लेकर मल्टी स्टोरी में रहने वाले अपने फ्लैट मालिकों को कनेक्शन देगा। उससे वह किस दर पर प्रत्येक माह बिजली की वसूली कर रहा है। उसका बिल उपभोक्ता को देना होगा। कोई भी बिल्डर अगर इसका उल्लंघन करता है तो मल्टी स्टोरी में रहने वाले उपभोक्ताओं को अब अपनी शिकायत उस क्षेत्र के विद्युत व्यथा निवारण फोरम में करने का अधिकार भी दे दिया गया है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement