Home Lucknow News Bjp Leader Bihari Lal Rawat Found Dead

सरकार का उद्देश्य एक है, बड़े-बड़े दावे और जुमले करना: अभिषेक मनु सिंघवी

AAP विधायकों ने EC के फैसले को चुनौती वाली याचिका हाई कोर्ट से वापस ली

ये देश ऐसा नहीं कि कोई सिर काटने की बात करे और कानून मूक बना रहे: आर माधवन

10 अप्रैल को भारत 16वीं अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा मंच बैठक का आयोजन करेगा

ज्यूरिख पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, कुछ देर में दावोस के लिए होंगे रवाना

काकोरी में बीजेपी नेता का हत्यारोपी विशाल यादव गिरफ्तार

Lucknow | 09-Jan-2018 17:35:58 | Posted by - Admin
  • आत्‍महत्‍या दिखाने के लिए पेड़ से लटकाई लाश 
  • खून के सहारे शव तक पहुंचे परिजन
   
Bjp Leader Bihari Lal Rawat Found Dead

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

काकोरी में मंगलवार को 45 वर्षीय भाजपा नेता बिहारी लाल रावत की निर्मम हत्‍या कर दी गई। सुबह वह कोचिंग पढ़ाने के लिए घर से निकले थे। इसके बाद वह घर नहीं लौटे। घटना की जानकारी होते ही घर में कोहराम मच गया। बीजेपी नेता की हत्‍या की खबर जैसे ही गांव में फैली गांव में सनसनी फैल गई। वारदात की जानकारी होते ही अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. सतीश कुमार भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। इसके कुछ ही देर बाद मोहनलालगंज सांसद कौशल किशोर भी पीडि़त परिवार के यहां पहुंचे और ढ़ाढ़स बधाते हुए पुलिस से कड़ी कार्रवाई करने को कहा। मामले पर मृतक के दोस्‍त विशाल और अन्‍य के खिलाफ हत्‍या का मुकदमा दर्ज करते हुए पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

live updates 

  • काकोरी में बीजेपी नेता का हत्यारोपी विशाल यादव गिरफ्तार : एसपी ग्रामीण डॉ सतीश कुमार

 

थानाक्षेत्र के करधन गांव में बूथ अध्यक्ष बिहारी लाल रावत अपनी मां, बेटे और प‍त्‍नी के साथ रहते थे। वह कोचिंग में बच्‍चों को पढ़ाते हैं। सुबह सात बजे वह साइकिल से कोचिंग जाने के लिए निकले। उनके जाने के बाद उनका बेटा आशीष भी कोचिंग पढ़ने के लिए घर से निकला। जब वह इमामबाग लिंक रोड के पास पहुंचा तो यहां पर उसने अपने पिता की साइकिल और खून बिखरा देखा। इसके बाद उसने मोबाइल पर कॉल किया तो वह ऑफ बताने लगा। अनहोनी की आशंका से घबराए आशीष ने तुंरत ही घर में सूचना दी। मौके पर पहुंचे परिजनों ने खोजबीन शुरू की तो जहां पर साइकिल पड़ी थी वहां से 150 मीटर दूर आम के बाग में बिहारी लाल का शव पेड़ से गमछे के सहारे लटक रहा था। मृतक के पैर जमीन को छू रहे थे तो वहीं पूरे शव खून से लथपथ था। मरने से पहले बिहारी लाल ने हत्‍यारोंके साथ खूब संघर्ष किया होगा। इसका अंदाजा मौके पर पड़े लाठी-डंडों, उनके कपड़े, शव पर पड़े निशान और सड़क पर बिखरे खून से लगाया जा सकता है। हत्‍यारों ने जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया इससे यह भी साफ है कि उन्‍हें बिहारी लाल के आने जाने की पूरी जानकारी थी। हत्‍या करने के बाद हत्‍यारों ने शव को घसीट कर बाग में ले गए और यहां पर आत्‍महत्‍या का रूप देने के लिए उन्‍हें पेड़ से टांग दिया। घटना स्‍थल से मृतक के मोबाइल और पर्स भी गायब हैं।

“पत्नी विश्‍वकांति रावत ने विशाल यादव के खिलाफ नामजद तहरीर दी थी। इसी के आधार पर मुकदमा पंजीकृत करते हुए गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। शव में कई जगह चोट के निशान हैं और यह निशान एक व्‍यक्ति द्वारा नहीं बनाए जा सकते हैं। इसलिए पूरी संभावना है कि उसे लाठी-डंडों से खूब पीटा गया था। हालांकि पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद मामला साफ हो जाएगा।“

डॉ. सतीश कुमार

अपर पुलिस अधीक्षक

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555




https://www.therisingnews.com/




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news