FIR Registered Against Singer Abhijeet Bhattacharya For Misbehavior From Woman

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

गुरुवार देर शाम लखनऊ में दर्दनाक घटना हो गई। मोहान रोड स्थित डॉ. शकुंतला मिश्र राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय के हॉस्टल में बीएड की छात्रा पारुल (23) ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना की जानकारी पर प्रबंधन के लोग छात्रा को फंदे से उतारकर एरा अस्‍पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उधर, घटना से नाराज सैकड़ों छात्र-छात्रओं ने पारुल की हत्या किए जाने का आरोप लगाकर कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी कर जमकर हंगामा किया।

छात्र-छात्राओं ने किया हंगामा

रात करीब 11 बजे कुलपति प्रवीर कुमार विवि पहुंचे। उन्होंने आक्रोशित छात्र-छात्रओं को शांत कराया और घटना की जांच के आदेश दिए। देवरिया जिले के जगहटा भाटपार रानी गाव निवासी कमला पति सिंह की बेटी पारुल (23) डॉ. शकुंतला मिश्र विश्वविद्यालय में बीएड की छात्रा थी। कॉलेज के ग‌र्ल्स हॉस्टल के द्वितीय तल पर कमरा नंबर 219 में रहती थी। देर शाम छात्रा कमरे के अंदर फंदे पर लटकी मिली। छात्रा के आत्महत्या की जानकारी पर हॉस्टल में सैकड़ों छात्र-छात्राएं इकट्ठा हो गए और हंगामा करने लगे। इसके बाद छात्र-छात्राएं वीसी को बुलाने की जिद पर अड़ गए।

 

 

घटना की सूचना पर पारा इंस्पेक्टर अखिलेश चंद्र पाडेय, सीओ आलमबाग संजीव सिन्हा समेत भारी पुलिस बल और पीएसी मौके पर पहुंची। पुलिस ने हंगामा कर रहे छात्र-छात्राओं को समझाने का प्रयास किया पर कोई सफलता नहीं मिली।

छात्रा को स्‍कूटर से लेकर पहुंचे अस्पताल

बताया जा रहा है कि छात्र को फंदे पर लटका देख प्रबंधन के लोगों ने उसे उतारा। उसके बाद छात्रा को स्कूटर से लेकर बुद्धेश्वर स्थित एक अस्पताल पहुंचे, जहां से छात्रा की हालात नाजुक देख उसे एरा रेफर कर दिया गया।

हॉस्टल में कुल 350 छात्राएं रहती हैं। प्रदर्शन के दौरान कई छात्राएं बेहोश हो गईं। छात्राओं की हालात बिगड़ती देख छात्रों ने पानी की छींटें डालकर उन्हें होश में लाया। इसके बाद पुलिस ने छात्राओं को क्षेत्र स्थित अस्पताल पहुंचाया।

पुलिस को नहीं जाने दिया कमरे में

प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं ने दो घंटे तक पुलिस को कमरे में नहीं दाखिल होने दिया। वह वीसी को मौके पर बुलाने की जिद पर अड़े थे। इस बीच छात्र-छात्राओं ने मृतका का कमरा भी बंद कर दिया।

 

 

शर्मनाक रही विवि की भूमिका

विवि के हॉस्टल में छात्रा की मौत के मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन की भूमिका शर्मनाक रही। छात्राओं का कहना है कि घटना के बाद न तो विवि प्रशासन द्वारा पारुल को नजदीकी अस्पताल ले जाने के इंतजाम किए गए और न ही कोई अधिकारी मौके पर पहुंचे। मामले में प्रॉक्टर पी. राजीव नयन का कहना है कि मामले की पुलिसिया जांच के बाद ही हकीकत सामने आएगी।

वहीं, मामले पर सीओ आलमबाग ने बताया कि छात्रा ने फांसी लगाई है। उसके परिजनों को सूचना दे दी गई है। परिजन जो भी तहरीर देंगे और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll