Anushka Sharma Banarsi Saree Look Goes Viral on Social Media

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

बर्लिंग्‍टन चौराहे पर हुई सिटी बस दुर्घटना में 38 वर्षीय दुर्गाप्रसाद की उपचार के दौरान मौत हो गई। नाराज परिजनों ने मृतक के शव को सिटी स्‍टेशन रोड पर रखकर प्रदर्शन किया और मदद की मांग की। मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्‍ट्रेट विवेक श्रीवास्‍तव और क्षेत्राधिकारी चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए परिजनों की मांग पर कार्रवाई करते हुए पीड़िता के घाव पर मरहम लगाने का प्रयास किया।

सिटी मजिस्‍ट्रेट ने बताया कि मृतक की पत्‍नी मंजू देवी को विधवा पेंशन और दुर्घटना राशि 50 हजार रुपये दिए जा रहे हैं। साथ ही जो भी संभव होगा वह मदद भी की जाएगी। अधिकारियों के आश्‍वासन के बाद परिजनों ने शव को मार्ग से हटाकर अंतिम संस्‍कार कराया।

 

 

बीती रात दुर्गाप्रसाद की मौत के बाद ट्रॉमा सेंटर प्रशासन ने शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेज दिया था। पोस्‍टमॉर्टम होने के बाद परिजनों ने शव को अपने वजीरगंज थाना क्षेत्र स्थित मशकगंज ले जाने की जगह सिटी स्‍टेशन की ओर ले गए। यहां पर बीच चौराहे में शव को रखकर मुआवजे की मांग करने लगे। देखते ही देखते चौराहे के आसपास का यातायात ध्‍वस्‍त हो गया और काफी दूर तक जाम लग गया।

वजीरगंज इंस्‍पेक्‍टर पंकज सिंह को मामले की जानकारी होते ही वह मौके पर पहुंचे और परिजनों से बातचीत कर शव को सड़क के एक किनारे कराया। साथ ही इंस्‍पेक्‍टर ने क्षेत्राधिकारी चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी और सिटी मजिस्‍ट्रेट विवेक श्रीवास्‍तव को मामले की जानकारी दी।

 

कुछ ही देर में प्रशासन-पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। सिटी मजिस्‍ट्रेट और क्षेत्राधिकारी ने परिजनों से बात की, जिसमें पीड़िता को 50 हजार रुपये और विधवा पेंशन देने की तुरंत सहमति बन गई। इतना ही नहीं मजिस्‍ट्रेट ने हर संभव सहायता कराने का आश्‍वासन भी दिया। इसके बाद परिजनों ने शव को हटाते हुए रास्‍ते को खाली कर दिया। इस दौरान किसी भी स्थिति से निपटने के लिए भारी पुलिस बल और पीएसी तैनात रही। उल्‍लेखनीय है कि नौ मार्च को देर शाम बर्लिंग्‍ट चौराहे पर सिटी बस का ब्रेक फेल हो गया था। इसकी चपेट में आने से सात लोग घायल हो गए थे, जिसमें दो की उसी रात उपचार के दौरान मौत हो गई थी। अब तक इस दुर्घटना में तीन लोगों ने दम तोड़ दिया है। अभी भी कुछ घायलों की हालत नाजुक बतायी जा रही है। 

 

 

मासूमों के सिर से उठा पिता का साया

दुर्गा प्रसाद की मौत के बाद तीन मासूमों से पिता का साया उठ गया। शव के पास बिलखते तीन वर्षीया पलक, पांच वर्षीया रिमझिम और छह वर्षीय पुत्र यश के करुण क्रंदन को देखकर वहां से गुजर रहे लोगों की आह निकल रही थी। मौके पर मौजूद प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी भी बच्‍चों की इस मनोस्थिति को देखकर भावविह्वल हो गए।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement