Complaint Filed Against Aditya Pancholi At Versova Police Station

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।  

 

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बीजेपी पर एक बड़ा आरोप लगाया है। उन्‍होंने कहा कि मेड इन इंडिया के बहाने भाजपा ने स्वदेशी आंदोलन को फांसी लगा दी है। चीन और विदेश से सामान मंगाने के लाइसेंस बंट रहे हैं। बिचौलियों ने अर्थव्यवस्था पर कब्जा कर लिया है और विकास पिंजरे में कैद है। किसान और नौजवान ही नहीं बल्कि समाज का हर वर्ग हताश, कुंठित और परेशान है। उसे लोकसभा चुनाव का इंतजार है, जिसमें वह भाजपा को सबक सिखाएगा।

अखिलेश नव वर्ष की बधाई देने आए नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने संविधान की भी शपथ ली है पर, काम कर रही है आरएसएस के एजेंडे पर। मोदी और योगी सरकार समाज में नफरत और दूरी पैदा कर रही हैं। प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है। कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब प्रदेश में हत्या, लूट, बलात्कार अपहरण की घटनाएं न होती हों।

“नौजवानों की नौकरियों का रास्ता बंद है”

अखिलेश ने कहा कि नौजवानों की नौकरियों का रास्ता बंद है। किसानों को फसल का लागत मूल्य नहीं मिल रहा, कर्ज से लदे किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं। केंद्र सरकार की नीतियों से गरीब और सामाजिक-आर्थिक विषमता बढ़ी है। वहीं, सपा के लोग डॉ. लोहिया और लोकनायक जयप्रकाश नारायण की विरासत को आगे ले जाने के लिए संकल्पित हैं।

मेट्रो रेल में छात्रों को मिले फ्री पास

अखिलेश ने कहा कि समाजवादी चाहते हैं कि मेट्रो रेल में छात्रों को फ्री पास की सुविधा दी जाए। सिंचाई, पढ़ाई और स्वास्थ्य की सुविधाएं व्यक्ति का मौलिक अधिकार है। समाजवादी पेंशन सबके लिए थी लेकिन भाजपा सरकार ने इसे खत्म कर दिया। छात्र-छात्राओं को लैपटॉप की योजना बंद कर दी गई। सपा सरकार में शुरू की गई नियुक्तियां रोक दी गई हैं।

आबादी के आधार पर हिस्सेदारी मिले

सपा अध्यक्ष ने कहा कि सामाजिक न्याय का तकाजा है कि जनसंख्या के आधार पर सबकी भागीदारी तय होनी चाहिए। आबादी के आधार पर हिस्सा मिले तो किसी को भी शिकायत नहीं होगी।

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement