Actress Parineeti Chopra is also Going to Marry with Her Rumoured Boy Friend

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।

 

महिलाएं खुद को साबित करने में जुटी हुई हैं। हर फ्रंट पर वे आगे हैं। कई बार ऐसा करने के लिए उन्‍हें अपनी क्षमता से अधिक दबाव भी झेलना पड़ जाता है। इससे तनाव भयंकर बढ़ जाता है।

 

जरा सो‍चिए, तनाव आखिर आपको लेकर कहां जा रहा है। थोड़ा ठहरिये, और कुछ समय खुद को भी दीजिए। खुद को खुद से मिलने का मौका दीजिए। आपके सपने भी पूरे होंगे और सुकून भी मिलेगा।

 

कुछ और बातों पर भी अमल करने की कोशिश करें...

खुद को प्रॉयोरिटी दें 

जिम्‍मेदारियां बहुत हैं आपके पास, सबकी देखभाल करनी है। लेकिन खुद की देखभाल आप क्‍यों नहीं करती? चौबीस घंटों में से चंद पल भी अपने लिए नहीं निकाल पाती हैं। जबकि खुद को समय देना, स्ट्रेस फ्री लाइफ के लिए बहुत जरूरी है। जब लाइफ स्ट्रेस फ्री रहेगी तभी तो लाइफ के गोल्स अचीव किए जा सकते हैं, इस बात को समझना जरूरी है।

 

भले ही आप खुद को दिन भर में पंद्रह मिनट दें, लेकिन नियम से खुद के लिए समय निकालें। इस दौरान आपको जो काम पसंद हो, वो करें। जब आप अपने लिए समय निकालना शुरू करेंगी तो पहले दिन से ही अपने अंदर पॉजिटिव चेंज महसूस करने लगेंगी। 

 

अपना मन न दुखाएं  

छोटी-छोटी बातों को दिल से लगाना छोड़ दीजिए। अब समय खुल कर हंसने का है, आंसू बहाने का नहीं। अगर आप अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव लाना चाहती हैं तो बात-बात पर अपना मन न दुखाएं। दूसरों को माफ करना सीखें। 

 

साथ ही अगर कोई आपकी आलोचना करता है या फिर आप पर कटाक्ष करता है तो उसे गंभीरता से न लें। खुद को इन बातों से तनाव में न आने दें। हो सके तो मेडिटेशन का सहारा लें, इससे आपको इनर पावर, स्ट्रेंथ मिलेगी। 

 

न कहना सीखें 

जो महिलाएं हमेशा ज्यादा काम के बोझ और तनाव से घिरी रहती हैं, उन्हें अमूमन न बोलना नहीं आता है। इसके बाद जब उनके जिम्मे जरूरत से ज्यादा काम आता है तो वे चिड़चिड़ेपन का शिकार हो जाती हैं। इस स्थिति से उबरने का एक आसान तरीका है कि बेहद प्यार से सामने वाले व्यक्ति को न कह दें। 

 

वहीं, अगर आपके द्वारा किया गया काम किसी को पसंद नहीं आता है या फिर कोई आपको न कहता है तो उसे भी उतनी ही सहजता से स्वीकारें। यकीन मानिए, अगर आपने यह गुण अपना लिया तो बहुत-सी मुश्किलें आसानी से सुलझ जाएंगी।

 

फिजिकल एक्टिविटी पर दें ध्यान

कहते हैं पहला सुख, निरोगी काया। अगर आप खुद हेल्दी नहीं रहेंगी तो परिवार का ख्याल कैसे रख पाएंगी। ऐसे में जरूरी है कि अपने शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रखें। एक्सरसाइज, फिजिकल एक्टिविटी से खुद को फिट रखें। वॉक, जॉगिंग,डांसिंग, रोप स्किपिंग, जुंबा, योगा, स्विमिंग भी करें। 

अच्छा खानपान रखें, इससे आप एनर्जेटिक रहेंगी। इन बातों का असर आपकी वर्किंग एबिलिटी पर होगा, वह बढ़ेगी। जब वर्किंग एबिलिटी बढ़ेगी तो रिजल्ट अच्छा आएगा और आपको पॉजिटिव फील होगा। 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement