Home Ladies Special Strong Woman Facts

J&K: दक्षिण कश्मीर और जम्मू के कई इलाकों में भारी बर्फबारी

फीस पर निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए AAP विधायकों की बैठक

उदयपुर: शंभूलाल के समर्थक हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर किया पथराव

नीतीश को तेजस्वी का चैलेंज, विकास किया है तो दिखाएं रिपोर्ट

आधार मामले पर सुप्रीम कोर्ट कल सुनाएगा फैसला

ये पांच खूबियां मिल कर बनाती हैं सशक्त महिला

Ladies Special | 30-Nov-2017 15:05:20 | Posted by - Admin
   
Strong Woman Facts

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

यह समाज पूरी तरह से पुरुषों के नियंत्रण में है। पुरुष समाज ही महिलाओं के लिए नियम बनाता है, जो महिला इन नियमों को तोड़ने की कोशिश करती है, उसकी राह में कई रोड़े अटकाये जाते हैं। इन नियमों को तोड़ने के लिए सशक्तीनकरण की जरूरत होती है। बिना इसके कुछ हासिल कर पाना मुश्किल है। तो आइए जानें सशक्त महिला की पांच खूबियां।

 

वह शिक्षित होती है

शिक्षा का अर्थ केवल स्कू ल, कॉलेज जाकर डिग्री इकट्ठा करना नहीं होती। शिक्षा का अर्थ सीधा-सीधा जागरुकता और सजगता से जुड़ा है। सिर्फ किताबी ज्ञान से दृष्टिकोण बड़ा नहीं होता। अपने नजरिये को व्यांपक रूप देने के लिए जरूरी है कि आप सब बातों के प्रति सजग रहें। आपको अपने आसपास होने वाली घटनाओं की जानकारी हो। आपको मालूम है कि दुनिया में इस समय क्या  महत्व पूर्ण घट रहा हो। इतना ही नहीं अहम मुद्दों पर आपकी अपनी राय भी होनी चाहिए। भले ही आप गृहणी क्योंा न हों, लेकिन दूनिया के बारे में जानकारी रखना आपका फर्ज है।

 

वह आत्मनिर्भर होती है

आत्मतनिर्भरता सशक्ती महिलाओं का सबसे अहम गुण होता है। उन्हेंु अपने हर काम के लिए किसी दूसरे व्यीक्ति की जरूरत नहीं पड़ती। वे साथी पर भी हर काम की उम्मीलद नहीं रखतीं और न ही उन्हेंु हर पल उसके साथ की जरूरत होती है। वह अपने फैसले खुद लेती है और साथ ही उनकी जिम्मेमदारी लेने का साहस भी उसमें होता है। वह अकेले अपना रास्ता  तय करना जानती है। और जब टीम में काम करने का मौका आता है, तो वह उससे भी पीछे नहीं हटती।

 

माफ कर देती है

क्षमा बड़न को चाहिए छोटन को अपराध- सशक्तै महिला इस नियम को अच्छीछ तरह मानती है। उसका हृदय विशाल होता है और वह दूसरों की गलती को माफ करना जानती है। याद रखिये माफ करने वाला हमेशा बड़ा होता है और माफ करने के बाद आप एक बेहतर इनसान बनते हैं। वह अपने गमों को भूलकर दूसरों की गलतियों को माफ करना जानती है।

 

अपने अधिकारों की जानकारी

सशक्तअ महिला को अपने अधिकारों की पूरी जानकारी होती है। और साथ ही वह अपने हकों के लिए लड़ना भी जानती है। महिलाओं को हमेशा यह सिखाया जाता है कि उन्हें  दूसरों के लिए अपनी खुशी को कुर्बान कर देना चाहिए, लेकिन सशक्त  महिला समाज के इन नियमों को नहीं मानतीं। वे इसके बीच से अपने लिए रास्ताल निकाल लेती हैं। चाहे उनका पति हो, बॉय फ्रेंड वह किसी को भी अपने ऊपर हावी नहीं होने देती और न ही किसी को अपना हक मारने की इजाजत देती है।

 

वह दयालु होती है

कहीं आपको ऐसा तो नहीं लग रहा कि सशक्तींकरण महिलाओं को उग्र और आक्रामक बना देता है। जी, नहीं ऐसा बिलकुल नहीं है। और अगर आप ऐसा सोचते हैं, तो आपको अपने विचार बदलने की जरूरत है। सशक्तत महिला दयालु होती है। उसके मन में किसी के लिए भी मैल नहीं होता। वह किसी से नफरत नहीं करती। वह अपना मातृत्वत को कभी मरने नहीं देती। मदर टेरेसा इसका एक मजबूत उदाहरण हैं। वह सशक्ति थीं, आत्मअ निर्भर थीं, लेकिन उनके मन में मानव मात्र के लिए दया का भाव था।

 

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news