Actress Parineeti Chopra is also Going to Marry with Her Rumoured Boy Friend

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।

 

मां बनने के बाद बहुत ही तेजी से करीना कपूर ने अपना वजन घटा लिया था। सभी को उनके वेट लॉस में बड़ी दिलचस्‍पी थी। लोगों में खासतौर पर महिलाओं के दिमाग में ये सवाल कौंध रहा था कि आखिर इतनी तेजी से वह कैसे इतनी पतली हो गईं।

इसका जवाब हम आपको देते हैं। वैसे तो करीना एक फिटनेस फ्रीक हैं और रोज जिम जाती हैं। इसके अलावा वह एक खास किस्‍म की एक्‍सरसाइज करती हैं। इस एक्‍सरसाइज के बारे में हम आपको बताएंगे।

इसका नाम है पिलाटेस। उनकी ट्रेनर नम्रता पुरोहित इसका वीडियो अपनी सोशल साइट पर भी डाल चुकी हैं।

है क्‍या ये पिलाटिस?

जिम एक्‍सपर्ट्स कहते हैं कि "पिलाटेस एक खास तरह की एक्सरसाइज़ है जिसे करने से शारीरिक क्षमता यानी की स्‍ट्रेंथ बढ़ती है। खासतौर पर पेट के हिस्से में। इससे आपकी फ्लेक्सिबिलिटी भी बढ़ती है। इसे रेगुलर करने से आप फिट रहते हैं।"

बाकी एक्सरसाइज़ के मुकाबले, पिलाटेस करते समय किसी भी तरह की चोट लगने का डर भी काफ़ी कम होता है। इसलिए ये काफ़ी सेफ होती है।

इसके फायदे जानिए

  • पिलाटेस से आप अपने शरीर के कुछ स्पेसिफिक अंगों से वेट लूज़ कर सकते हैं जैसे कि आपका पेट, पैर और शरीर का निचला हिस्सा। अगर आप ये सोचे कि सिर्फ पिलाटेस करने से आपका वेट लूज़ होगा तो आप गलत हैं। इसके साथ-साथ आपको एक अच्छी डाइट भी लेनी पड़ेगी। और खूब वॉक भी करना पड़ेगा।

  • प्रेग्नेंसी के बाद अक्सर कई औरतों के पेट का निचला हिस्सा काफ़ी बढ़ जाता है। पिलाटेस क्योंकि पेट की मसल्स पर काम करता है, इसलिए पोस्ट-प्रेग्नेंसी वेट लूज़ करने का ये एक अच्छा तरीका है। साथ ही पीठ के ऊपरी हिस्से और सीने की मांसपेशियों पर भी काम करता है। नई माओं को अक्सर पीठ और सीने में दर्द रहता है। ये बच्चे को दूध पिलाने और गोद में उठाने की वजह से होता है।

  • यही नहीं। पिलाटेस पीरियड के दौरान करने के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज़ है। पीरियड्स के दौरान पेट और उसके निचले हिस्से में दर्द रहता है। पिलाटेस उससे निजात पाने में काफ़ी असर करता है। एक्सरसाइज़ के दौरान जब पेट के निचले हिस्से की मासपेशियां खिंचती हैं तो वो मजबूत होती हैं। साथ ही सांस के पैटर्न की वजह से बॉडी रिलैक्स होती है।

कैसे करें पिलाटिस?

आप पिलाटिस घर में बड़े आराम से कर सकती हैं।

चार आसान एक्सरसाइज़ हैं:

  • जमीन पर लेट जाइए। दोनों हाथों को अपने अगल-बगल रख लीजिए। अब घुटनों को मोड़ लीजिए। धीरे से अपने बैक पर जोर डालते हुए अपने पेट को हवा में उठाइए। कुछ सेकंड होल्ड करके वापस ज़मीन पर ले आइए। इसे 15 बार करिए।

  • दूसरी एक्सरसाइज़ के लिए ज़मीन पर सीधे लेट जाइए। हाथों को अपने अगल-बगल रख लीजिए। अब पैरों को ऐसे चलाइए जैसे साइकिल के पेडल चला रही हों। उसे 15 बार करिए।

  • अगली एक्सरसाइज़ के लिए अपने साइड पर लेट जाइए। हाथ मोड़कर अपने सर पर रखिए। जो पैर नीचे है उसे हल्का सा मोड़ लीजिए, जो पैर ऊपर है उसे धीरे-धीरे ऊपर उठाइए। फिर नीचे लाइए। ऐसा 15 बार करिए।

  • आखिरी एक्सरसाइज़ के लिए पेट के बल लेट जाइए। अपने हाथों को मोड़ लीजिए। अब अपने पेट पर ज़ोर देकर अपने पैरों को हवा में उठाइए। शरीर का भार आपके पेट और बैक पर पड़ना चाहिए। पैरों के साथ-साथ हाथों को भी उठाइए। ये एक्सरसाइज़ 15 बार करिए।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement