Kareena Kapoor Will Work With SRK and Akshay Kumar in 2019

दि राइजिंग न्‍यूज

वॉशिंगटन।

 

अमेरिका आतंक को पनाह देने वाले पाक पर अपना शिकंजा लगातार कस रहा है। अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान अपने क्षेत्र में मौजूद आतंकी समूहों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करेगा।

 

अगले हफ्ते होने वाली अपनी भारत यात्रा से पहले अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने भारत को अमेरिका का महत्वपूर्ण साझीदार बताया। उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक महत्वाकांक्षी भागीदारी के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि इससे न सिर्फ दोनों देशों बल्कि शांति एवं स्थिरता की दिशा में काम करने वाले अन्य देशों को भी फायदा मिलेगा।

 

अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन का भारत को महत्वपूर्ण साझीदार बताना क्षेत्र में चीन की उकसाने वाली नीति के जवाब के रूप में देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि चीन का व्यवहार और उसकी कार्रवाई स्थापित अंतरराष्ट्रीय मानकों को चुनौती पेश कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत के साथ तेजी से बढ़ रहा चीन कम जिम्मेदारीपूर्ण भूमिका निभा रहा है क्योंकि भारत अन्य देशों की संप्रभुता का सम्मान करता है।

 

टिलरसन ने कहा कि जून में हुई प्रधानमंत्री मोदी की यात्रा में सहयोग के कई मुद्दों पर चर्चा हुई थी। उन्होंने कहा कि इस तरह की प्रतिबद्धता दोनों देशों के नेताओं में पहले कभी नहीं देखी गई थी। वहीं दोनों देशों के बीच प्रस्तावित रक्षा सौदों को उन्होंने महत्वपूर्ण बताया।

 

उन्होंने कहा कि अमेरिका ने रक्षा के क्षेत्र में कई प्रस्ताव दिए हैं जो कि संभावित तौर पर “गेम चेंजर” हो सकते हैं। अमेरिका द्वारा प्रस्तावित सौदों में गार्डियन यूएवी, एयरक्राफ्ट कैरियर टेक्नोलॉजिज, एफ-16 व एफ-18 लड़ाकू विमान जैसे सौदे शामिल हैं।

 

टिलरसन ने उम्मीद जताई कि पाकिस्तान आतंकियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करेगा और ऐसा कदम इस्लामाबाद के अंतरराष्ट्रीय प्रभाव में सुधार के साथ क्षेत्र में उसकी स्थिरता भी सुनिश्चित करेगा। इसके साथ ही उन्होंने पाकिस्तान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जो देश आतंकवाद को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल करते हैं उनकी अंतरराष्ट्रीय जगत में कोई ख्याति नहीं रह जाती।

 

वहीं टिलरसन ने कहा कि दक्षिण चीन सागर में चीन की भड़काऊ गतिविधियां उन अंतरराष्ट्रीय कानून और नियमों के लिए सीधी चुनौती हैं, जिनके लिए भारत और अमेरिका दोनों खड़े हैं। उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर रोक लगाना हर सभ्य राष्ट्र के लिए जरूरी है न कि वैकल्पिक।

 

उन्होंने कहा कि अमेरिका और भारत आतंकवाद के खिलाफ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं, पिछले दशक में आतंकवाद के खिलाफ भारत और अमेरिका के बीआपसी सहयोग महत्वपूर्ण रूप से बढ़ा है।

 

रेक्स टिलरसन ने बताया कि भारत में अमेरिका की 500 से ज्यादा कंपनियां काम कर रही हैं।  पिछले दो सालों में अमेरिकी एफडीआइ में 500 फीसदी का उछाल आया है और पिछले साल हमारा द्विपक्षीय व्यापार करीब 115 बिलयन अमेरिकी डॉलर का रहा है। टिलरसन ने भारत को दीपावली की शुभकामनाएं दी हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll