Kajol Says SRK is Giving Me The Tips of Acting

दि राइजिंग न्‍यूज

अलीगढ़।

 

यूपी बोर्ड परीक्षा में सरकार-प्रशासन की सख्‍ती के बावजूद सामूहिक नकल करने का एक बड़ा मामला सामने आया है। अलीगढ़ के अतरौली में गुरुवार को बच्चे परीक्षा केंद्र में मौजूद थे और स्कूल के पास बने एक घर में उन बच्चों की कॉपी लिखी जा रही थी। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए 62 लोगों को गिरफ्तार किया है।

मामला नगला तेवथु स्थित बोहरे किशनलाल शर्मा इंटर कॉलेज का है, जहां दूसरी शिफ्ट में इंटरमीडिएट के केमिस्ट्री का पेपर में चल रहा था। प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक, परीक्षा केंद्रों पर सख्ती के बावजूद नकल माफिया सक्रिय हैं। पुलिस को जानकारी मिली कि प्रति पेपर के हिसाब से छात्रों से 3000 रुपये वसूले जा रहे थे।

इसके लिए नकल माफिया स्कूल के पास बने घर में कॉपियां लिखवाते थे, जबकि परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र के अंदर रहते थे। वहीं, परीक्षा खत्म होने के बाद बाहर लिखी कॉपियां रोल नम्बर के हिसाब से अटैच कर दी जाती थीं।

नेता के घर में लिखी जा रही थीं कॉपियां

बताया जा रहा है ये सब खेल जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में बाबू लखन शर्मा के भाई रामकुमार शर्मा के द्वारा किया जा रहा था। लखन शर्मा उस कार्यालय में तैनात है जो विभिन्न स्कूलों के परीक्षा केंद्र बनाता है। बता दें कि अतरौली यूपी के पूर्व सीएम और राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह का गांव है।

बताया जा रहा है कि जिस घर में नकल हो रही थी वो एक नेता का घर है, हालांकि अभी तक किसी भी अधिकारी द्वारा यह नहीं बताया गया है कि नेता किस पार्टी का है।

क्या कहते हैं पुलिस अधिकारी?

मामले पर एसएसपी राजेश पांडे ने बताया, यहां बोहरे किसान लाल इंटर कॉलेज में सामूहिक नकल कराई जा रही थी। पूरा वाकया सामने आने पर डीआइओएस ने इस सेंटर की रसायन विज्ञान सेकेंड पेपर की परीक्षा निरस्त कर दिया गया है।

पुलिस ने तीन लड़कि​यों सहित 62 लोगों को केमिस्ट्री की कॉपियां लिखते हुए हिरासत में लिया है। ये सभी कॉपियां पेपर के बाद विभिन्न परीक्षार्थियों की कॉपियों से बदली जानी थीं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement