New Song of Sanju Ruby Ruby Released

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

प्रदेश में वीआइपी सुरक्षा के मद्देनजर सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती की सुरक्षा में कटौती की गई है। मायावती को मिलने वाली एनएसजी सुरक्षा की क्विक रिस्पॉन्स टीम (क्‍यूआरटी) को वापस बुला लिया गया है। अब सिर्फ उन्हें मोबाइल सुरक्षा घेरा ही मिलेगा। मायावती को एनएसजी की सुरक्षा इंटेलिजेंस ब्यूरो की इनपुट रिपोर्ट के आधार पर मिली हुई थी, लेकिन अब क्‍यूआरटी सुरक्षा नहीं मिलेगी।

 

 

आपको बता दें कि हाल ही में गृह मंत्रालय में वीआइपी सुरक्षा को लेकर भी बैठक हुई थी। इस बैठक में लोगों को मिलने वाली Z, Z+, X और Y सुरक्षा पर चर्चा हुई थी।

 

 

गौरतलब है कि मायावती एक बार फिर अपनी सियासी जमीन वापस पाने की कोशिश कर रही हैं। 18 सितंबर को मायावती ने उत्तर प्रदेश के मेरठ में रैली भी की थी। इस रैली में मायावती ने पहली बार मेरठ में इतने बड़े मंच से अपने भाई के साथ भतीजे को “प्रोजेक्ट” किया। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि माया ने अपना सियासी वारिस तलाश लिया है।

 

 

मायावती ने पहले अपने भाई आनंद कुमार को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया और अब आनंद के बेटे व अपने भतीजे आकाश को भी पार्टी में एंट्री देकर उनकी सियासी पहचान बनाने की कवायद कर रही हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll