Home Lucknow News Robbery And Murder In Kakori In Lucknow

गुजरात में एक करोड़ की चरस के साथ 2 लोग गिरफ्तार

J-K: अनंतनाग में पुलिस ने राइफल छीनने की कोशिश की विफल

विपक्ष पर PM मोदी का हमला, कहा- कट्टर दुश्मनों को भी बना दिया दोस्त

भ्रष्टाचार के खिलाफ चल रही जांच की वजह से जेल में हैं 4 पूर्व CM: मोदी

राजनीति रिश्ते-नातों के लिए नहीं, बल्कि समाज के लिए कर रहे हैंः PM मोदी

हत्‍या-डकैती से थर्राई राजधानी     

Lucknow | Last Updated : Jan 21, 2018 10:00 AM IST
  • एक की मौत-चार घायल, काकोरी के दो गांवों में डकैती

  • तीसरे दिन भी पुलिस पर भारी अपराधी


Robbery and Murder in Kakori in Lucknow


दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।   

 

काकोरी में देर रात हुई हत्‍या और डकैती से राजधानी एक बार फिर थर्रा उठी। दर्जन भर से अधिक डकैतों ने घंटों गांव वालों को बंधक बनाकर ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए कई घरों में वारदात को अंजाम दिया। इस दौरान ग्राम प्रधान हरिशंकर के पुत्र कोमल यादव ने विरोध किया तो उसे गोली मार कर हत्‍या कर दी। इतना ही नहीं जिसने भी टोंकाटांकी की डकैतों ने उसे ही गोली का निशाना भी बनाया। बदमाशों ने लूट-पाट करने के बाद घरवालों को कमरे में बंद कर भागने लगे तो यूपी 100 की इनोवा पहुंची। बदमाश इसी लाइट के सहारे वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। देर से पहुंची पुलिस ने मामले के खुलासे का वही पुराना राग अलापा।

 

 

उल्‍लेखनीय है कि बीते तीन दिनों से अपराधी लगातार पुलिस पर भारी पड़ रहे हैं। बीते शुक्रवार को चि‍नहट की डकैती खुलासा हो भी नहीं पाया कि अगले ही दिन शनिवार को नाका थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े व्‍यवसायी के पत्‍नी की नृशंस हत्‍या हो गई थी। सुबह मौके पर एडीजी अभय कुमार प्रसाद, आइजी जोन जय नारायण सिंह और एएसपी ग्रामीण डॉ. सतीश कुमार पहुंचे और घटना का जायजा लिया। उधर बड़े अधिकारियों ने अपनी गर्दन बचाने के लिए एसओ काकोरी यशकांत को सस्‍पेंड कर दिया है।

 

 

थाना क्षेत्र के कटौली और बनियाखड़ा टोला में रात दो बजे दर्जन से अधिक डकैत जा धमके। घर का दरवाजा तोड़कर घुसे बदमाशों ने फायरिंग करते हुए कैलाश को गन प्‍वाइंट पर ले लिया। सिर पर कुंदे से प्रहार और फिर पीठ पर भारी डंडे से वार किया। शोर मचाया तो उनके बच्‍चे और पत्‍नी निकली तो सीने पर बंदूक रखकर जेवर-नगदी पूछी। अलमारी और बक्‍से का ताला तोड़ते हुए सारा सामान लूट लिया। इसके बाद सभी को घर के कमरे में बंद कर फरार हो गए। बनियाखेड़ा में प्रधान हरिशंकर यादव के घर के आसपास बदमाशों ने फायरिंग कर लूट शुरू की तो प्रधान का बेटा कोमल यादव घर से निकल कर विरोध करना शुरू किया और बदमाशों को ललकारने लगा। इसपर खिसियाए डकैतों ने ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए कोमल को मौके पर ही मौत की नींद सुला दिया।

 

 

अजय यादव ने बताया कि बदमाशों की फायरिंग से पूरा गांव दहशत में रहा। इस दौरान लगभग 20 से अधिक फायरिंग बनियाखेड़ा में की गई जबकि 10 फायरिंग कटौली में हुई। डकैतों ने घर में घुस कर बच्‍चों, महिलाओं के साथ मारपीट की। कई घरों के अंदर घुस कर गोलीबारी भी की गई। इससे दोनों गांव के कई लोग घायल हो गए। सभी घायलों को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। मृतक कोमल यादव के शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेजते हुए पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

 

 

यूपी 100 डेढ़ घंटे बाद पहुंची

चिनहट से लेकर काकोरी तक वारदात के बाद घंटों देरी से पहुंच रही यूपी 100 की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में है। मौके पर पहुंचे सांसद कौशल किशोर ने भी इस पर गहरी नाराजगी जताई। एक ओर जहां डकैत गांववालों को बंधक बनाकर वारदात को अंजाम देते हुए फायरिंग कर रहे थे तो वहीं यूपी 100 चैन की बंसी बजा रही थी। गांव वालों ने आरोप लगाया कि सूचना देने के डेढ़ घंटे बाद पुलिस पहुंची। इस दौरान डकैत भागने की फिराक में थे। इसी बीच यूपी 100 इनोवा कार के हेड लाइट देख डकैत भाग गए। स्‍थानीय लोगों के अनुसार पुलिस चाहती तो डकैतों का पीछा कर उन्‍हें पकड़ सकती थी।

 

 

रास्‍ते में लोगों को ठोंक रही यूपी 100

घटनास्‍थल पर यूपी 100 भले ही समय से ना पहुंच रही हो, लेकिन 100 किमी की रफ्तार से सड़कों पर लोगों को घायल जरूर कर रही है। ऐसा ही मामला शनिवार की रात नौ बजे हुआ जब राजाजीपुरम में रहने वाले अंकित वर्मा अपने दोस्‍त नितिन के साथ बाइक से पेट्रोल पंप जा रहा था। इसी दौरान पंप के नजदीक ही तेज रफ्तार से आ रही यूपी 100 की पीआरवी 0489 इनोवा ने उन्‍हें जोरदार टक्‍कर मार दी। गंभीर रूप से घायल हुए दोनों युवकों को जैसे-तैसे छोड़कर भाग रहे ड्राइवर उमेश कुमार को लोगों ने घेर लिया और घायलों को अस्‍पताल पहुंचाया। हालांकि सुबह दोनों की स्थिति सामान्‍य बताई जा रही है। घायल के भाई आशीष वर्मा ने बताया कि भीड़-भाड़ वाले जगहों पर भी यूपी 100 की इनोवा 90 से 100 की रफ्तार में दौड़ रही थी।

 

 

कांबिंग का परिणाम शून्‍य–

लखनऊ पुलिस ने दो घंटे तक आस-पास की सघन कांबिंग की, लेकिन कुछ भी पुलिस के हाथ नहीं लगा। कई थानों की फोर्स और सीओ के साथ खाक छान रहे अधिकारियों को कुछ खाली खोके, बिखरा खून पड़ा मिला। इन्‍हें पु‍लिस ने फोरेंसिक लैब भेजा है। दो गांवों में लूटपाट का कितना माल गया है, अभी तक इसकी जानकारी नहीं हो पाई है। हालांकि इस घटना के बाद स्‍थानीय लोगों में भय का माहौल है और लोग अभी भी किसी अनहोनी की आशंका से ग्रस्‍त हैं। 

 

“कई घरों में वारदातें हुई हैं। बीते दिनों जिस तरह की घटनाएं हुई हैं उससे ऐसा लग रहा है कि कोई बाहरी गैंग इसमें शामिल है, जो लगातार लूट, डकैती और हत्‍याओं को अंजाम दे रहा है। ऐसे अपराधियों की पड़ताल की जा रही है, जल्‍द ही मामले का खुलासा होगा।”

अभय कुमार प्रसाद

एडीजी, जोन

 

 

“डकैतों ने प्रधान पु‍त्र कोमल यादव की हत्‍या करने के साथ ही चार लोगों को घायल करते हुए वारदात को अंजाम दिया है। कई जगहों से फायरिंग के निशान और खाली खोके भी बरामद किए गए हैं। सभी बिदुंओं पर पड़ताल की जा रही है। आरोपी जल्‍द ही हमारी गिरफ्त में होंगे।”

जय नारायण सिंह

पुलिस महानिरीक्षक

 



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...