Kajol Says SRK is Giving Me The Tips of Acting

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

आज देश के महामहिम रामनाथ कोविंद राजधानी लखनऊ पहुंचे। राष्ट्रपति एयरपोर्ट से सीधे रिसालदार पार्क पहुंचे और वहां बौद्धभिच्छु प्रज्ञानंद को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान राज्यपाल रामनाईक भी मौजूद थे। वहीं, राष्ट्रपति बाबा साहेब अंबेडकर विश्वविद्यालय के 7वें दीक्षांत समारोह के लिए वहां पहुंचे और यहां उन्‍होंने छात्रों को सम्‍मानित किया। 

राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्‍नी सविता कोविंद, न्यायधीश प्रमोद कोहली, यूपी के राज्‍यपाल राम नाईक, टेक्निकल शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन, यूजीसी के चेयरमैन वीएस चौहान भी मौजूद रहे।

 

 

इस दौरान राष्‍ट्रपति ने कहा, यहां उपस्थित सभी लोगों को मेरी तरफ से बहुत बहुत बधाई। लखनऊ में आप की तहजीब देखने को मिलती है जो सम्मान और प्राथमिकता का संदेश है। अगर सभी देशवासी लखनऊ की पहले आप की तहजीब सीख ले तो देश की आधी समस्या खत्म हो जाएगी। बाबा साहब अम्बेडकर का लखनऊ से पुराना नाता रहा है। उन्हें दीक्षा देने वाले गुरु भदन्त प्रज्ञानंद लखनऊ में ही रहते थे।

 

उन्‍होंने कहा, लखनऊ आकर मेरी पुरानी यादें ताजा हो गई हैं। 2002-03 में मैं बीबीएयू की बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट का मेम्बर था। मुझें आज यहां आकर बेहद खुशी है। बीबीएयू में अटल बिहारी वाजपेयी और डॉ. भीम राव अम्बेडकर दो सभागार बने हुए हैं। हमें दोनों का सम्मान करने और याद करने का मौका मिला है। ये मेरे लिए खुशी की बात है। बाबा साहब अम्बेडकर ने अपने परिश्रम से दुनिया में अपना एक अलग मुकाम कायम किया था।

 

13 वर्ष की उम्र में सुषमा वर्मा बीबीएयू से पीएचडी कर रही हैं और नीलू शर्मा को स्वामी विवेकानंद सिंगल गर्ल चाइल्ड फेलोशिप मिला है। इन दोनों बेटियों ने मेरे मन मे कभी न मिटने वाली एक अलग सी छाप छोड़ी है। जब देश विकसित होगा तभी सभी को विकास का अवसर मिलेगा। माता पिता और गुरुजनों ने आपको पढ़ाया है। जिन छात्रों को गोल्ड मेडल मिला है अगर वे अपना काम शुरू करते हैं तो आपको अपार सफलता मिल सकती है।

महा‍महिम ने कहा, बीबीएयू के छात्रों से उम्मीद करता है कि वे लाइफ में समानता और एकता का भाव बनाये रखेंगे। आज एक भारत रत्न को याद करने का दिन भी है लौह पुरूष सरदार पटेल जी की पुण्यतिथि है। जिनको हम सभी नमन करते हैं। बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर विश्वविद्यालय में दो बेटियों ने वो कर दिखाया जिससे हर भारतवासी को गर्व है। इतने कम उम्र में बेटियां पीएचडी कर इस विश्वविद्यालय का मान बढ़ाया है।

 

 

वहीं, राज्यपाल रामनाईक ने कहा- "दीक्षांत समारोह का मतलब है कि किताबी पढ़ाई खत्म हुई है। अब जीवन की लड़ाई शुरू हुई है और ज्ञान तो जीवन के अंत तक प्राप्त करना चाहिए।

उन्होंने कहा- तीन बातों का ख्याल रखिए, माता-पिता, गुरुजन ने आपके पंखों में ताकत भरी है। आपको ऐसे आकाश में उड़ान करना है, जहां पूरा आकाश खुला है। जीवन में अब बहुत बड़ी स्पर्धा आई है। इस स्पर्धा में आगे बढ़ना है तो कड़ी मेहनत के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं है। शॉर्टकट का प्रयोग कभी ना करो, जो हिम्मत नहीं हारता है, जीवन में वही आगे जाता है।

 

राज्‍यपाल ने कहा, जो विद्यार्थी पास हुए हैं उनमें लड़कियां ज्यादा हैं। लड़कियां पढ़ने के लिए लड़कों से ज्यादा आगे आ रही हैं। 192 पदक में लड़कों को 70 पदक मिले हैं, जबकि 122 पदक लड़कों को मिले हैं।

 

 

 

इन चार छात्र-छात्राओं को मिला राष्ट्रपति के हाथों गोल्ड मेडल

  • विकास चौरसिया- 2016 बैच- एमएससी एम्प्लॉयड मैथमेटिक्स- 94.69%

  • महेंद्र- 2016 बैच एमएससी एम्प्लॉयड मैथमेटिक्स- 89.06%

  • ऋचा वर्मा- 2017 बैच- एमएससी इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी- 90.83%

  • मंजेश कुमार- 2017 बैच- एमएससी एम्प्लॉयड मैथमेटिक्स- 89.38%

 

 

वहीं राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद रिमोट लेकर अम्बेडकर भवन का उद्घाटन करने मंच पर पहुंचे, लेकिन रिमोट का बटन दबाने पर वह काम नहीं कर रहा था। ये देख मौके पर बीबीएयू के रजिस्ट्रार वी राम ने पर्दा हटाया। उसके बाद उद्घाटन का कार्य सम्पन्न हो पाया।

 

 

 

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया- "दोनों कार्यक्रम स्थलों के आसपास कमांडो निगरानी करेंगे। संदिग्धों पर पैनी नजर रखी जाएगी।" ऊंची इमारतों पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस रूफ टॉप ड्यूटी लगाई गई है।"

 

 

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद 9.20 बजे लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पहुंचें जहां उनके स्‍वागत और आगवानी राज्‍यपाल राम नाईक, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और नवनिर्वाचित लखनऊ महिला मेयर संयुक्‍ता भाटिया ने की।

 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement