Home Top News Modi Government Will Considered The Files Of Manmohan Government

IndvsNZ: पहले वनडे में भारत ने टॉस जीता, बल्लेबाजी का फैसला

जापान में आम चुनाव के लिए मतदान जारी, PM शिंजो अबे को बहुमत के आसार

आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज बांग्लादेश के 2 दिवसीय दौरे पर होंगी रवाना

J-K: बांदीपुरा के हाजिन में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर

दो दिवसीय बांग्लादेश दौरे पर आज रवाना होंगी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood
   

अब कालेधन पर मोदी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

Home | 20-Sep-2017 04:34:24 PM

Modi Government will considered the files of Manmohan Government

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार के पिछले कार्यकाल में देश और विदेश में भारतीयों के कालेधन पर बनी तीन रिपोर्टों की समीक्षा कर रहा है। यूपीए सरकार के कार्यकाल में ये रिपोर्ट्स तैयार कराई गई थीं। इन्हें तीन साल पहले सौंपा जा चुका है।

सूचना के अधिकार (RTI) के तहत मांगी गई जानकारी के जवाब में मंत्रालय ने कहा कि इन रिपोर्ट्स के निष्कर्षों को आरटीआइ कानून के तहत 'खुलासे से छूट' है और अभी उनकी समीक्षा की जा रही है। अभी इन रिपोर्ट्स को संसद के पास नहीं भेजा गया है।

दिल्ली के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ पब्लिक फाइनेंस एंड पॉलिसी (NIPFP), नेशनल काउंसिल आफ एप्लायड इकनॉमिक रिसर्च (NCAIR) के अलावा फरीदाबाद के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फाइनेंशियल मैनेजमेंट (NIFM) ने यह रिपोर्ट्स तैयार की हैं। एनआइपीएफपी, एनसीएइआर और एनआइएफएम की रिपोर्ट्स सरकार को क्रमश: 30 दिसंबर, 2013, 18 जुलाई, 2014 और 21 अगस्त, 2014 को मिली हैं, जबकि मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार मई 2014 में सत्ता में आई थी।

वित्त मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा कि आरटीआइ कानून, 2005 की धारा 8 (1) (सी) के तहत इस सूचना का खुलासा न करने की छूट है। तीनों संस्थानों से मिली रिपोर्ट्स की सरकार समीक्षा कर रही है। इन रिपोर्ट्स को सरकार के जवाब के साथ अभी तक वित्त पर स्थायी समिति के जरिये संसद में नहीं रखा गया है।

ये रिपोर्ट्स संसद की वित्त पर स्थायी समिति को पहले ही सौंपी जा चुकी हैं। अभी तक देश और विदेश में कालेधन के बारे में कोई आधिकारिक आंकड़ा नहीं है।

 

अमेरिकी शोध संस्थान ग्लोबल फाइनेंशियल इंटिग्रिटी (जीएफआइ) के हालिया अध्ययन के अनुसार 2005 से 2014 के दौरान भारत में 770 अरब डॉलर का कालाधन आया। वहीं इस अवधि में देश से बाहर 165 अरब डॉलर का कालाधन गया।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555


संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...





What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


Photo Gallery
अब कब आओगे मंत्री जी । फोटो- अभय वर्मा

Flicker News



Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news



rising news video

खबर आपके शहर की