Sanjay Dutt invited Ranbir and Alia For Dinner

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

फिल्‍म पद्मावती को लेकर लगातार विवाद के चलते फिल्म की प्रस्तावित रिलीज डेट को लेकर असमंजस की स्थिति बन गई है। एक टीवी चैनल की खबर के मुताबिक फिल्म 12 जनवरी के दिन रिलीज होगी, इसे एक दिसंबर को रिलीज किया जाना था। हालांकि पद्मावती के मेकर्स ने डेट आगे बढ़ने की बात से इनकार किया है।

पद्मावती के निर्माताओं में से एक वायकॉम18 के सीओओ अजीत अंधारे ने पद्मावती की रिलीज टेड आगे खिसकने की खबरों को आधारहीन कहा।

 

 

वैसे फिल्म के निर्माताओं की ओर से सेंसर बोर्ड को जो डॉक्युमेंट भेजे गए थे उसमें कई तरह की खामियां हैं। मेकर्स की ओर से पहले एक दिसंबर को देशभर में फिल्म की रिलीज प्रस्तावित है। सूत्रों के मुताबिक मेकर्स की ओर से शुक्रवार को सेंसर बोर्ड को कॉपी सौंपी गई है।

 

पद्मावती मेकर्स की ओर से सेंसर को जो ओरिजिनल डॉक्युमेंट भेजे गए हैं वो अधूरे हैं। फिल्म की शुरुआत में भी अपेक्षित डिस्क्लेमर नहीं है। डॉक्यूमेंटेशन में कमी की वजह से फिल्म के प्रमाणन में देरी हो रही है।

 

 

फिल्म के टलने की दो बड़ी वजहें हो सकती हैं-

क्या है सेंसर बोर्ड का नियम- दरअसल, नियमों के मुताबिक किसी फिल्म को सर्टिफिकेशन के लिए रिलीज से 15 दिन पहले सेंसर के पास भेजना होता है। फिल्म की पहली कॉपी का काम पूरा नहीं हुआ था। इस वजह से इसे सेंसर के पास नहीं भेजा गया था। फिल्म 17 नवंबर को ही सेंसर के पास भेजी गई है। प्रस्तावित तारीख एक दिसंबर पर रिलीज के लिए बोर्ड के पास फिल्म भेजने की तारीख ख़त्म हो चुकी है। सेंसर ने नियम का पालन किया तो एक दिसंबर को फिल्म की रिलीज पर संकट है।

 

 

फिल्म पर जारी विवाद- हालांकि यह साफ नहीं है, लेकिन फिल्म पर जारी विवाद भी रिलीज डेट की टलने की एक वजह बन सकती है। फिल्म पर करणी सेना और कांग्रेस-बीजेपी जैसे राजनीतिक दलों ने आपत्ति जाहिर की है। गुजरात में विधानसभा चुनाव और यूपी में निकाय चुनाव के मद्देनजर बीजेपी ने इसे टालने की मांग की गई थी। बीजेपी ने निर्वाचन आयोग को चिट्ठी लिखकर डेट बढ़ाने की मांग की थी। सेंसर का मामला बताते हुए आयोग ने इसे अस्वीकार कर दिया था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll