Home Kanpur News Kali Maa Temple In Kanpur

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के चौथे फ्लोर पर वीसी के रूम में लगी आग

दिल्ली के खजूरी खास पुस्ता रोड पर एक शख्स की गोली मारकर हत्या

विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह इराक पहुंचे

चीन: शी जिनपिंग का बढ़ा कद, संविधान में नाम हुआ शामिल

19 नवंबर को इंदिरा गांधी के जन्म शताब्दी वर्ष समारोह के लिए कर्नाटक जाएंगे राहुल

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood
   

इस मंदिर की अनूठी प्रथा, ताला लगाकर होती है मुराद पूरी

Kanpur | 25-Sep-2017 03:15:04 PM

Kali Maa Temple in Kanpur

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।  

 

इस समय मां दुर्गा की पूजा-अराधना वाली नवरात्रि का पर्व चल रहा है। प्रदेश के कानपुर में भी एक ऐसे मंदिर की पूजा की जाती है जो सैकड़ों वर्ष पुराना है। यहां चौक सर्राफा बाजार स्थित बंगाली मोहाल में माता काली का सैकड़ों वर्ष पुराना मंदिर स्थापित है। मंदिर की मान्यता यह है कि जो आदमी सच्चे मन मनोकामनां मांगकर मंदिर में एक ताला बांधता है। माता उसकी माता सभी मनोकामना पूरी कर देती है। वही नवरात्रि में मंदिर में हर दिन हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ रहती है।

 

 

 

स्थानीय निवासी ने बताया कि, ''इस मंदिर में हम अपने माता पिता के साथ बचपन में माता के दर्शन करने आते थे। आज भी हम इस मंदिर में दर्शन करने जरूर आते है। मेरी शादी शहर से बाहर हुई है, लेकिन नवरात्रि में खासकर मंदिर में दर्शन करने आते हैं। मंदिर में मान्यता है कि यहां ताला बांध कर माता से जो भी मुराद मांगो वह जरूर पूरी होती है।''

 

 

वहीं पुजारी ने कहा, ''मंदिर कब और किसने बनवाया साथ ही मां काली यहां कैसे विराजमान हुई ये आज तक कोई नहीं जान पाया। कहते हैं कि सदियों पहले एक महिला भक्त बहुत परेशान रहा करती थी, और वो नियम से इस मंदिर में सुबह पूजन के लिए आया करती थी।''

उन्‍होंने बताया कि- एक बार वो मंदिर के प्रांगण में जब ताला लगाने लगी तो उस समय के पुरोहित ने उससे इसके बारे पूछा तो उसका जबाब था कि मां ने सपने में हमसे कहा था कि तुम एक ताला मेरे नाम से मेरे मंदिर प्रांगण में लगा देना तुम्हारी हर इच्छा पूरी हो जाएगी जाएगी।

 

 

उन्‍होंने आगे कहा कि- उसके बाद से मां काली का नाम ताला वाली देवी भी पड़ गया। भक्त अपनी मनोकामना पूरी होने के बाद नवमी के दिन बकरे की बलि भी देते हैं। जिसे प्रसाद के रूप में चढ़ाया जाता है।

हर अमावस्या को माता का दरबार पूरी रात खुलता है, साथ ही मंदिर में पूजा आरती पूरी रात होती है। माता के दर्शन के लिए कानपुर ही नहीं प्रदेश के कई जिलो से लोग यहां पर दर्शन करने आते हैं।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555


संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...





What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


Photo Gallery
अब कब आओगे मंत्री जी । फोटो- अभय वर्मा

Flicker News



Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news


खेल-कूद


rising news video

खबर आपके शहर की