Mahaakshay Chakraborty and Madalsa Sharma jet off to US for Honeymoon

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क

 

पेंसिल ऐसी चीज़ है जिसका इस्तेमाल हम बचपन से ही करना शुरू कर देते हैं। कागज़ पर न जाने कितने टेढ़े-मेढ़े चित्र बनाए होंगे सभी ने, लेकिन इस पेंसिल के बारे में कितना जानते होंगे? शायद कुछ भी नहीं! तो जानते हैं पेंसिल से जुड़ी खास बातों पर-

“पेंसिल” नाम कहां से आया इस बारे में दो राय हैं:

1.पेंसिल शब्द फ्रेंच भाषा के “Pincel” से बना है, जिसका मतलब होता है “छोटा पेंट ब्रश”; और

2.पेंसिल लेटिन भाषा के “Penicillus” से बना है जिसका मतलब “लिटिल टेल” होता है।

पेंसिल का निर्माण सबसे पहले कॉनरेड गेसनर ने किया था।

पेंसिल में एक आसानी से सरकने वाली पतली छड़ होती है, जो प्राय: ग्रेफाइट की बनी होती है।

पहली ऐसी पेंसिल जिसके ऊपर रबर लगी हुई थी, 1858 में बनाई गई थी।

साइंटिस्ट एडिसन हमेशा अपनी जेब में एक पेंसिल रखते थे, ताकि वे अपने आइडियाज लिख सकें।

पेंसिल से 0 ग्रेविटी में भी लिखा जा सकता है और इसीलिए पेंसिल का उपयोग स्पेस में भी कर सकते हैं।

पेंसिल से हम पानी में भी लिख सकते हैं, लेकिन ध्यान रहे कागज गीला न हो वरना वह फट जाएगा।

दुनिया की सबसे लंबी पेंसिल 323।51 मीटर लंबी है, इसे यूनाइटेड किंगडम के एडवर्ड डगलस मिलर ने बनाया है। इसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शामिल किया गया है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll