Home Top News Central Government Submitted Letter In Supreme Court For Correcting Posco Act

पाकिस्तान विदेश मंत्रालयः भारत को नहीं सौंपा जाएगा कुलभूषण जाधव

पाकिस्तान से आतंकियों की घुसपैठ रुकना जरुरी-सेना प्रमुख

कर्नाटकः विधानसभा में फ्लोर टेस्ट, CM ने पेश किया अविश्वास प्रस्ताव

बिपिन रावत-मेजर लितुल गोगोई ने अगर गलती की है तो सेना सख्त कार्रवाई करेगी

येदियुरप्पाः हमने स्पीकर पद की मर्यादा के लिए अपना उम्मीदवार हटाया

केंद्र का आश्वासन- बच्चियों से रेप करने वालों को फांसी की सजा होगी

Home | Last Updated : Apr 20, 2018 01:28 PM IST

Central Government Submitted Letter in Supreme Court for Correcting Posco Act


दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

बच्चियों के खिलाफ बढ़ते यौन अपराधों की वजह से देश में रेप के आरोपियों को मौत की सजा देने की मांग तेजी से उठ रही है। इसी के मद्देनज़र महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा था कि वह बलात्कारियों को मौत की सजा देने के लिए कानून में संशोधन करने पर विचार कर रही हैं। इस मामले में केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में एक पत्र जमा करवाया है। जिसमें सरकार की तरफ कहा है कि पॉस्को एक्ट में संशोधन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

 

इसके तहत 0-12 साल की उम्र के बीच की बच्चियों के साथ बलात्कार करने वालों को कम से कम मौत की सजा देना सुनिश्चित किया जाएगा। केंद्र ने दायर की गई एक जनहित याचिका के जवाब में अपनी रिपोर्ट जमा करवाई है। इस मामले की अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी।

बता दें कि कठुआ में आठ साल की मासूम को लगभग एक हफ्ते तक बंधक बनाकर रखने, लगातार बलात्कार करने और फिर निर्मम हत्या कर देने के बाद लोगों ने बलात्कारियों के लिए मौत की सजा की मांग करना शुरू कर दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बताया था कि अकेले 2016 में 19,675 नाबालिगों के साथ बलात्कार की घटनाएं हुईं है। यह शर्मनाक है। भाजपा सरकार के मंत्रियों ने भी बलात्कारियों के लिए मौत की सजा देने की मांग की थी।

 

इस मामले पर मेनका गांधी ने कहा था कि मैं कठुआ और हालिया रेप मामलों को जानकर बहुत ज्यादा परेशान हो गई हूं। मैं और मंत्रालय मिलकर पॉस्को एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव रखेंगे जिसके अनुसार 12 साल से कम उम्र के बच्चों के बलात्कार मामले में मौत की सजा का प्रावधान हो सके। उन्होंने कहा था कि उनका मंत्रालय कैबिनेट के सामने बच्चों का संरक्षण उत्पीड़न के खिलाफ संरक्षण अधिनियम (पॉस्को) एक्ट में संशोधन का नोट पेश करेगा।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...