Home Lucknow News Case Of Mining In Lucknow City

करणी सेना का दावा, संजय लीला भंसाली ने "पद्मावत" देखने का भेजा न्यौता

MLA ने एक रुपया भी सैलरी नहीं ली: मनीष सिसोदिया

पुंछ: पाक सीजफायर उल्लंघन के चलते बंद किए गए 120 स्कूल

बिना सबूत EC ने कैसे दिया MLAs को अयोग्य घोषित करने का सुझाव: सिसोदिया

अब CJI जस्टिस दीपक मिश्रा खुद करेंगे लोया मौत केस की सुनवाई

छह माह में 12 करोड़ की हुई राजस्‍व वसूली

Lucknow | 17-Dec-2017 13:30:06 | Posted by - Admin
  • खनन को लेकर 11 करोड़ की आरसी जारी
  • कमाई के मामले में नंबर वन बना लखनऊ
   
Case of Mining in Lucknow City

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

जिला प्रशासन ने बीते छह माह में 12 करोड़ की वसूली करते हुए प्रदेश में शीर्ष स्‍थान हा‍सिल किया है। इसमें केवल सरकारी कार्यदायी संस्‍थाओं से ही साढ़े तीन करोड़ रुपये जमा कराए गए हैं। इतना ही नहीं अभी भी जिले की पांचों तहसीलों से 11 करोड़ रुपये की वसूली होनी शेष है। इसके लिए एडीएम खनन शत्रुघ्‍न सिंह ने आदेश जारी कर दिए हैं। इस दौरान जिले के टॉप 10 खनन बकाएदारों की सूची भी जारी की गई है। 

 

 

सरोजनीनगर से 21 को नो‍टिस गई। इनसे एक करोड़ 30 लाख 22 हजार 990 रुपये, सदर तहसील में 102 नोटिस गईं जिनसे चार करोड़ तीन लाख 3445 रुपये, बीकेटी में 88 नोटिस पर दो करोड़ 58 लाख 37 हजार, मलिहाबाद में 28 नोटिस के सापेक्ष एक करोड़ 27 लाख और मोहनलालगंज में 29 नोटिस पर दो करोड़ 47 लाख 46 हजार रुपये की वसूली की गई।

 

 

इसी तरह राजधानी में काम कर रही सरकारी कार्यदायी संस्‍थाओं से भी साढ़े तीन करोड़ से अधिक की वसूली की गई है। जिसमें लखनऊ विकास प्राधिकरण ने एक करोड़ 6 लाख 52 हजार 617, जल निगम ने छह लाख 86 हजार 164, शारदा कैनाल ने 89 लाख तीस हजार 235, सिंचाई विभाग ने 95 लाख 35 हजार 472, राजकीय निर्माण निगम ने 29 लाख 41 हजार 601, ग्रामीण अभियंत्रण ने 66 हजार 251 और पीडब्‍ल्‍यूडी ने 41 लाख 78 हजार 709 रुपये सहित कुल 3 करोड़,69 लाख 91 हजार 49 रुपये जमा कराए हैं।

 

 

राजधानी के 10 बड़े बकाएदार

बीकेटी के राजेंद्र 32 लाख, 94 हजार, मोहनलालगंज के गुरुप्रसाद 12 लाख 63 हजार 600, सदर से मसानी यादव 12 लाख 22 हजार 149, सरोजनीनगर से ऊषा पर 9 लाख, 72 हजार, सदर के बालकिशन 9 लाख 60 हजार 320, बीकेटी के बालकराम से 9 लाख 72 हजार, सदर के शिवबालक  से 9 लाख 72 हजार, बीकेटी के प्रेम चंद्र से 8 लाख 56 हजार 800, सदर की ऊषा से 8 लाख 50 हजार 500 और सदर के ही अफलातून से 7 लाख 72 हजार 472 रुपये के बड़े बकाएदार है। अकेले इन पर ही कुल 1 करोड़  20 लाख 6241 रुपये वसूले जाने हैं।

 

 

“राजधानी में खनन को लेकर वसूली तेजी से की जा रही है। इसके लिए लगातार काम भी किया जा रहा है। बीते छह महीनों में जिस तरह से वसूली की गई है उससे लखनऊ प्रदेश में नंबर वन पर काबिज हुआ है। आगे भी यह रफ्तार जारी रहेगी। इतना ही नहीं जो भी बिना अनुमति के खनन करते पाया गया उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी, जिसमें एफआइआर तक शामिल है।”

शत्रुघ्‍न सिंह

एडीएम-खनन

 

 

“खनन पर नोटिस और आरसी भेजी जा रही हैं। इस वसूली के बाद भी करीब 11 करोड़ रुपये की वसूली होनी है जिसे जल्‍द ही पूरा कर लिया जाएगा। कार्यदायी संस्‍थाओं से भी वसूली की जा रही है। हालांकि कई संस्‍थाओं ने खुद ही पहल करते हुए खनन की रॉयल्‍टी जमा भी कराई है।”

कौशल राज शर्मा

जिलाधिकारी

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news